Monday , December 18 2017

पसमांदा रियासत तेलंगाना की तरक़्क़ी के लिए मर्कज़ का तआवुन नागुज़ीर

चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना के चन्द्रशेखर राव‌ ने आंध्र प्रदेश की तक़सीम के बाद क़ायम होने वाली नई रियासत तेलंगाना के मआशी मौक़िफ़ और आमदनी के वसाइल के सिलसिले में हक़ीक़ी सूरते हाल से वाक़िफ़ कराते हुए 14 वीं फाइनैंस कमीशन पर ज़ोर दिया कि वो

चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना के चन्द्रशेखर राव‌ ने आंध्र प्रदेश की तक़सीम के बाद क़ायम होने वाली नई रियासत तेलंगाना के मआशी मौक़िफ़ और आमदनी के वसाइल के सिलसिले में हक़ीक़ी सूरते हाल से वाक़िफ़ कराते हुए 14 वीं फाइनैंस कमीशन पर ज़ोर दिया कि वो मर्कज़ की तर से वसूल किए जाने वाले टैक्स में तेलंगाना को ज़ाइद हिस्सादारी की सिफ़ारिश करे।

चीफ़ मिनिस्टर चन्द्रशेखर राव‌, वज़ीरे फाइनैंस अटाला राजिंदर और हुकूमत के आला ओहदेदारों के साथ फाइनैंस कमीशन की मीटिंग हैदराबाद में मुनाक़िद हुवी।

सदर नशीन 14 वीं फाइनैंस कमीशन वाई वि रेड्डी और अरकान प्रोफेसर अभीजीत सेन, सुषमा नाथ, डॉ गवीनद राव‌ और डॉ सुदीप मंडले ने चीफ़ मिनिस्टर और हुकूमत के आला ओहदेदारों के साथ मुशावरत की चन्द्र शेखर राव‌ ने मर्कज़ की इमदाद और ग्रांट एन ऐड में इज़ाए के लिए भी भरपूर नुमाइंदगी की और आदाद-ओ-शुमार के ज़रीये ये साबित करने की कोशिश की के पसमांदा रियासत तेलंगाना की तरक़्क़ी के लिए मर्कज़ का तआवुन नागुज़ीर है।

कमीशन के रूबरू रियासत के मआशी मौक़िफ़ और आमदनी के वसाइल के बारे में रिपोर्ट पेश करते हुए चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि मुशतर्का आंध्र प्रदेश में हुकूमत की पालिसीयों और इलाक़ाई अदम तवाज़ुन के सबब तेलंगाना बुरी तरह मुतास्सिर हुआ है।

उन्होंने बताया कि पसमांदा इलाक़ों की निशानदेही के लिए मुतय्यन तमाम इदारों और कमेटीयों ने तेलंगाना के 10 में 9 अज़ला को पसमांदा क़रार दिया जबकि महबूबनगर और खम्मम हद दर्जा पसमांदा और भूक मरी के शिकार हैं।

चीफ़ मिनिस्टर ने हुकूमत की मुख़्तलिफ़ तरक़्क़ीयाती और फ़लाही इस्कीमात का हवाला देते हुए कमीशन से ख़ाहिश की के वो मर्कज़ से ज़ाइद फ़ंडज़ और टैक्स में हिस्सादारी के सिलसिले में अपनी सिफ़ारिशात पेश करे ताके हर शोबे में तेलंगाना तरक़्क़ी याफ़ता रियासतों में शुमार की जा सके।

चीफ़ मिनिस्टर ने नई रियासत के क़ियाम के सबब तेलंगाना को ख़ुसूसी रियासत का मौक़िफ़ देने की अपील की और कमीशन से इस सिलसिले में सिफ़ारिश की ख़ाहिश की। चीफ़ मिनिस्टर ने उम्मीद ज़ाहिर की के हुकूमत की तरफ से शुरू करदा तरक़्क़ीयाती और फ़लाही इस्कीमात के नताइज आइन्दा 5 बरसों में ज़ाहिर होने लगेंगे।

उन्होंने कहा कि ग़रीब दलितों ख़ानदानों में फ़ी ख़ानदान 3 एकऱ् अराज़ी की तक़सीम की इस्कीम का आग़ाज़ किया गया है।बर्क़ी की क़िल्लत का हवाला देते हुए चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि तेलंगाना को बर्क़ी की क़िल्लत का सामना है। हुकूमत वाटर ग्रिड के क़ियाम के ज़रीये हर घर को पाइपलाइन के ज़रीये पानी का कनेक्शन फ़राहम करने का मंसूबा रखती है। उन्होंने कहा कि हाल ही में कियागया जामि समाजी सर्वे कामयाब रहा जिस की बुनियाद पर हक़ीक़ी मुस्तहक़्क़ीन तक फ़लाही इस्कीमात के फ़वाइद पहुंच पाएंगे।

TOPPOPULARRECENT