Saturday , December 16 2017

पाँच घंटों की जंग बंदी के बाद इसराईली फ़िज़ाई हमलों का आग़ाज़ कई अहम ठिकाने निशाना

इसराईली जंगी तय्यारों ने पाँच घंटों की आरिज़ी जंग बंदी के एक बाद बार फिर ग़ज़ा पर अपनी वहशयाना बमबारी और हमलों का सिलसिला शुरू कर दिया है । ये जंग बंदी भी अचानक ख़त्म होगई जब इसराईल ने इल्ज़ाम आइद किया कि हमास के अस्करीयत पसंदों की जान

इसराईली जंगी तय्यारों ने पाँच घंटों की आरिज़ी जंग बंदी के एक बाद बार फिर ग़ज़ा पर अपनी वहशयाना बमबारी और हमलों का सिलसिला शुरू कर दिया है । ये जंग बंदी भी अचानक ख़त्म होगई जब इसराईल ने इल्ज़ाम आइद किया कि हमास के अस्करीयत पसंदों की जानिब से जंग बंदी के लिए जारी ज़बरदस्त सिफ़ारती कोशिशों के बावजूद इसराईल में राकेटस दागे़ हैं।

गुज़िशता 10 दिन से जारी इसराईली बमबारी और हमलों में अब तक 230 फ़लस्तीनी जांबाहक़ होगए हैं। कहा गया है कि अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की ख़ाहिश पर इंसानी इमदाद पहूँचाने के मक़सद से पाँच घंटों के लिए आरिज़ी जंग बंदी की गई थी ताहम ये मुद्दत ख़त्म होते ही इसराईल के हमलों का दुबारा आग़ाज़ होगया और पूरी शिद्दत के साथ बमबारी की जा रही है।

कहा गया है कि इसराईल के फ़िज़ाई हमलों में दो फ़लस्तीनी ज़ख़मी हुए हैं। कम अज़ कम तीन मोर्टार शेल्स ग़ज़ा से दागे़ जाने का इसराईली फ़ौज ने इद्दिआ किया है और कहा कि इस शलबारी के नतीजे में एक इसराईली फ़ौजी ज़ख़मी होगया है । इसराईली दिफ़ाई अफ़्वाज ने कहा कि इसराईली फ़ौज की जानिब से इस शलबारी का शिद्दत के साथ जवाब दिया गया है।

इन वाक़ियात के बावजूद अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के सेक्रेटरी जनरल बाण की मौन ने कहा कि दोनों ही फ़रीक़ैन की जानिब से अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की अपील पर जंग बंदी का बड़ी हद तक एहतेराम किया गया है। अक़वाम-ए-मुत्तहिदा का इद्दिआ है कि फ़लस्तीनी अवाम को ग़िज़ाई अजनास पानी और दूसरी ज़रूरी अश्या का ज़ख़ीरा करने के लिए पाँच घंटों की जंग बंदी नाफ़िज़ की गई थी।

ये इद्दिआ किया जा रहा है कि जुनूबी इसराईल में इस जंग बंदी के दौरान फ़िज़ाई हमलों के सायरन ख़ामोश थे और जंग बंदी महसूस की गई। इस वक़फ़ा के दौरान फ़लस्तीनी अवाम दूकानों और बैंकों पर जमा होगए और उन्होंने ज़रूरी अश्या हासिल कीं। इसराईली फ़ौज ने एक बयान में कहा कि अगर हमास या दूसरी दहशतगर्द तंज़ीमों की जानिब से इंसानी बुनियादों पर नाफ़िज़ की गई जंग बंदी का इस्तिहसाल किया और इसराईल के ख़िलाफ़ हमले किए गए तो इस का सख़्ती के साथ मूसिर अंदाज़ में जवाब दिया जायगा।

क़ब्लअज़ीं मुस्तक़िल जंग बंदी के लिए की जाने वाली शदीद कोशिशें नाकाम होगई थीं और इसराईल ने अचानक ही फ़िज़ाई हमले शुरू करदिए थे। हमास ने मिस्र की जानिब से की जाने वाली जंग बंदी की कोशिशों को क़बूल करने से इनकार कर दिया है और कहा कि इस में ग़ज़ा के शहरियों के लिए कोई आज़ादी नहीं है। गुज़शता दस दिन से जारी इसराईली वहशयाना कार्यवाईयों में अब तक जुमला 230 फ़लस्तीनी जांबाहक़ होगए हैं और दीगर सैंकड़ों बाशिंदे ज़ख़मी होगए हैं।

TOPPOPULARRECENT