Monday , December 18 2017

पाकिस्तानी फायरिंग से बेघर होने वालों के लिए मुआवज़े की अदायगी

वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी ने आज हिदायत दी कि जो लोग जम्मू-ओ-कश्मीर के सरहदी इलाक़ों में पाकिस्तान की शलबारी की वजह से बेघर होगए हैं, उन्हें मुनासिब मुआवज़ा अदा किया जाये।

वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी ने आज हिदायत दी कि जो लोग जम्मू-ओ-कश्मीर के सरहदी इलाक़ों में पाकिस्तान की शलबारी की वजह से बेघर होगए हैं, उन्हें मुनासिब मुआवज़ा अदा किया जाये।

वज़ीर-ए-आज़म के दफ़्तर से जारी करदा एक बयान में कहा गया है कि मुआवज़े की तफ़सीलात का ऐलान अनक़रीब किया जाएगा। वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी ने हिदायत दी है कि जो अवाम जम्मू-ओ-कश्मीर के सरहदी देहातों में पाकिस्तान की तबाहकुन शलबारी की वजह से बेघर होगए हैं।

उन्हें मुनासिब मुआवज़ा अदा किया जाये। तक़रीबन 30 हज़ार अफ़राद जम्मू-ओ-कश्मीर के सरहदी इलाक़ों में बेघर होगए हैं। पाकिस्तान की जानिब से एक‌ अक्टूबर से जंग बंदी की ख़िलाफ़वरज़ी जारी है। 2003 के बाद पहली बार इतनी बदतरीन ख़िलाफ़वरज़ी देखी जा रही है। पाकिस्तानी फ़ौजीयों ने 130 देहातों और 7 सरहदी चौकियों को 8 और 9 अक्टूबर की दरमयानी रात जम्मू, सानबा और कठवा में शलबारी का निशाना बनाया।

आज सरहद पर फायरिंग जारी थी लेकिन इस बार दुश्मन की चीख़ें सुनाई दे रही थीं। हमारे फ़ौजीयों ने जारिहाना कार्रवाई का जुर्रत के साथ जवाब देना शुरू कर दिया है। नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र में एक इंतेख़ाबी जलसा से ख़िताब करते हुए ये बात कही। प्रेस‌ कान्फ्रेंस में सरहद की सूरत-ए-हाल के बारे में सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि जल्द ही सूरत-ए-हाल बेहतर हो जाएगी।

TOPPOPULARRECENT