Thursday , August 16 2018

पाकिस्तानी लड़की ज़ैनाब की अंतिम संस्कार में साथ चल रहा है बलात्कार और हत्या का संदिग्ध

पाकिस्तान में पंजाब प्रांत के कसूर में एक सात साल की मासूम बच्ची से पहले बलात्कार और फिर उसकी हत्या के बहुचर्चित मामले ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया था। स्थिति यह थी कि पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने पुलिस को 72 घंटे में आरोपी को पकड़ने का अल्टिमेटम दिया था। इस अल्टिमेटम की मियाद पूरी होने से एक दिन पहले ही मंगलवार को पंजाब पुलिस ने आरोपी और बच्ची के पड़ोसी को गिरफ्तार कर लिया लेकिन इसके लिए पुइमरान को पकड़ने के लिए सरकार की पुलिस, ख़ुफिया और जांच एजेंसियां बीते कुछ वक्त से जुटी हुई थीं. इसी के तहत  ज़ैनब के घर के ढाई किलोमीटर के दायरे में रहने वाले 20 से 45 साल के सभी पुरुषों की डीएनए जांच की गई. इसके तहत 1150 मर्दों के डीएनए जांच की गई.

पाकिस्तान में पुलिस ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने सात साल की एक लड़की के बलात्कार और हत्या के एक संदिग्ध व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया था। इस आदमी की पहचान कसूर के 24 वर्षीय इमरान अली के रूप में हुई है। हालिया फुटेज अंसारी की अंतिम संस्कार में इमरान को देखा गया । पुलिस ने पिछले सप्ताह लाहौर के पूर्वी शहर के पास कसुर जिले के कचरे के डिब्बे में जैनब की शरीर को पाया गया था, चार दिनों के बाद उसे लापता होने की खबर मिली। क्षेत्र के निवासियों ने कहा है कि हत्या एक वर्ष में 12 वीं ऐसी घटना थी।

पंजाब प्रांत के मुख्य मंत्री शाहबाज शरीफ ने कहा कि गिरफ्तार व्यक्ति ने ज़ैनाब की हत्या के लिए कबूल किया है और इमरान का डीएनए 100 फीसदी मैच हुआ है. इमरान का डीएनए न सिर्फ ज़ैनब के रेप मामले में मैच हुआ बल्कि बीते कुछ वक्त से इस इलाके में जिन बच्चियों का रेप और मर्डर हुआ, उनमें भी इमरान का डीएनए मैच हुआ है. क्षेत्रीय पुलिस अधिकारी जुल्फिकार हमीद ने बताया कि संदिग्ध ज़ैनाब के पड़ोसियों में से एक था। ज़ैनब को आखिरी बार एक सीसीटीवी फुटेज में एक अज्ञात आदमी का हाथ पकड़ कर जाते हुए देखा गया. कुछ दिनों बाद उसका शव एक कचरे के ढेर से मिला.

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि आरोपी ने कई हत्याओं के लिए कबूल किया है और कम से कम सात लड़कियों का बलात्कार और हत्या करने का संदेह जताया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अली को बुधवार को गिरफ्तार किया गया लेकिन घोषणा करने से पहले डीएनए सबूत मैच के लिए इंतजार किया जा रहा था। शरीफ ने अपने बयान में कहा कि 1,150 डीएनए नमूने एकत्र किए गए थे जो आखिरकार आरोपी का डीएनए सैंपल मैच हो गया है।’

गौरतलब है कि पांच जनवरी को जैनब लापता हो गई थी। उसके माता-पिता सऊदी अरब गए हुए थे और वह अपनी एक रिश्तेदार के साथ रह रही थी। इसके बाद 9 जनवरी को शाहबाज खान रोड के पास कचरे के एक ढेर से उसका शव बरामद किया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टि हुई।

घटना के विरोध में समूचे पाकिस्तान में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए हैं। टीवी डिबेट्स में यह मामला सुर्खियों में रहा। मानवीय संवेदनशीलता और बच्चों के साथ बढ़ती दरिंदगी की घटनाओं को लेकर भारत में भी खूब चर्चा हुई है।

TOPPOPULARRECENT