Thursday , September 20 2018

पाकिस्तानी साईंसदाँ ख़लील चिशती अजमेर जेल से रिहा

जेल में 14 माह गुज़ारने के बाद 80 साल अलील पाकिस्तानी साईंसदाँ मुहम्मद ख़लील चिशती को आज दो दहों क़दीम क़त्ल केस में अजमेर जेल से ज़मानत पर रिहा कर दिया गया। उन्होंने कहा कि वो अपने वतन जल्द से जल्द वापस होना चाहते हैं।

जेल में 14 माह गुज़ारने के बाद 80 साल अलील पाकिस्तानी साईंसदाँ मुहम्मद ख़लील चिशती को आज दो दहों क़दीम क़त्ल केस में अजमेर जेल से ज़मानत पर रिहा कर दिया गया। उन्होंने कहा कि वो अपने वतन जल्द से जल्द वापस होना चाहते हैं।

अजमेर सेंटर्ल जेल के बाहर इनका इस्तेक़बाल करने वाले उनके भाई जमील चिशती और चचाज़ाद भाई अयाद अनवारुल हक़ ने दीगर साथीयों के हमराह इन का ख़ौरमक़दम किया और कहा कि मुझे ख़ुशी है कि वो जेल से रिहा हुए हैं।

हम को अल्लाह की ज़ात पर यक़ीन था और अल्लाह ताला के शुक्र गुज़ार हैं। चिशती जिन की पीर के दिन सुप्रीम कोर्ट ने ज़मानत मंज़ूर की है , कहा कि मेरी आरज़ू है कि मैं जल्द से जल्द पाकिस्तान में अपने अरकान ख़ानदान को देखूं।

TOPPOPULARRECENT