पाकिस्तान अपने आंगन में साँप ना पाले : हिलेरी क्लिन्टन

पाकिस्तान अपने आंगन में साँप ना पाले : हिलेरी क्लिन्टन
ईस्लामाबाद 22 अक्टूबर । ( पी टी आई ) अमरीकी वज़ीर-ए-ख़ारजा हलारी क्लिन्टन ने पाकिस्तान को आज सख़्त पयाम देते हुए मुतालिबा किया कि अफ़्ग़ानिस्तान में हमलों के ज़िम्मेदार हक़्क़ानी नेटवर्क की सरकूबी के लिए वो अज़ीम तर तआवुन करें।

ईस्लामाबाद 22 अक्टूबर । ( पी टी आई ) अमरीकी वज़ीर-ए-ख़ारजा हलारी क्लिन्टन ने पाकिस्तान को आज सख़्त पयाम देते हुए मुतालिबा किया कि अफ़्ग़ानिस्तान में हमलों के ज़िम्मेदार हक़्क़ानी नेटवर्क की सरकूबी के लिए वो अज़ीम तर तआवुन करें।

उन्हों ने कहा कि पाकिस्तान अपने पड़ोसीयों पर हमले के लिए ख़ुद अपने ही आंगन में साँप ना पाले । हिलेरी ने आज यहां वज़ीर-ए-ख़ारजा पाकिस्तान हिना रब्बानी खुर के साथ मुशतर्का प्रैस कान्फ़्रैंस से ख़िताब के दौरान एक क़दीम कहानी याद दिलाते हुए कहा कि आप अपने आंगन में साँप नहीं पाल सकते और ये भी तवक़्क़ो नहीं रख सकते कि वो आप के पड़ोसीयों को ही डसेगा क्योंकि अगर आप भी इस की ज़द में आजाऐं तो आप भी महफ़ूज़ नहीं रह सकती।

हलारी ने कहा कि अमरीका जनरल क्यानी के ब्यान से मुत्तफ़िक़ है कि पाकिस्तान अफ़्ग़ानिस्तान या इराक़ नहीं ही। पाकिस्तानी वज़ीर-ए-ख़ारजा ने कहा कि पाकिस्तान और अमरीका के दरमयान ताल्लुक़ात को गुज़श्ता चंद माह से चैलेंजिज़ का सामना है।

उन्होंने कहा कि दुनिया में कोई भी ऐसा मुल्क नहीं है जो कि अफ़्ग़ानिस्तान में अमन ना चाहता है और पाकिस्तान मज़बूत और मुस्तहकम अफ़्ग़ानिस्तान देखना चाहता है और पाकिस्तान के इलावा कोई ऐसा मुल्क नहीं है जो कि अफ़्ग़ानिस्तान के अदम इस्तिहकाम से मुतास्सिर हो।

उन्हों ने कहा कि दहश्तगर्दी के ख़िलाफ़ जंग के हवाले से असैंबली और ए पी सी की क़रारदादों पर अमल करेंगी। खुर ने कहा कि पाकिस्तान दहश्तगर्दी के ख़िलाफ़ जंग में अपना किरदार अदा करता रहेगा।

इस मौक़ा पर हिलेरी क्लिन्टन ने पाकिस्तान और अमरीका के ताल्लुक़ात पर बात करने से क़बल कर्नल क़ज़ाफ़ी की हलाकत के हवाले से बातचीत का आग़ाज़ किया।

हिलेरी ने कहा कि क़ज़ाफ़ी की हलाकत से लीबिया के अवाम का एक तल्ख़ बाब ख़त्म हो गया ख़त्म है। अमरीका लीबिया के अवाम की मदद जारी रखेगा।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान और अमरीका के दरमयान तनाज़आत एक दौरा में तै नहीं किए जा सकती। पाकिस्तान और अमरीका दोनों के मुफ़ादात में है कि वो अफ़्ग़ान अवाम की मदद करें।

इन का कहना था कि अमरीका एक मुस्तहकम, ख़ुदमुख़तार और ख़ुशहाल पाकिस्तान देखना चाहता है क्योंकि पाकिस्तान का इस्तिहकाम ख़ित्ते के इस्तिहकाम के लिए इंतिहाई ज़रूरी है। हिलेरी क्लिन्टन ने कहा कि इंतिहापसंदी ने पाकिस्तान ,अमरीका और अफ़्ग़ानिस्तान के हज़ारों अवाम की जान ली है और पाकिस्तानी हदूद से गुज़श्ता काफ़ी अर्से से अफ़्ग़ानिस्तान में अमरीकी फ़ौज के ख़िलाफ़ कार्रवाई की जा रही हैं।

Top Stories