Sunday , December 17 2017

पाकिस्तान आतंकियों का गढ़ है, मानवाधिकार पर पाकिस्तान के ज्ञान की जरूरत नहीं है- भारत

न्यूयॉर्क। संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में शिरकत करने पहुंचे पाकिस्तान की गीदड़भभकी का भारत ने आज करार जवाब दिया। भारत ने कहा है कि पाकिस्तान आतंकियों का गढ़ है और दुनिया को मानवाधिकार पर पाकिस्तान के ज्ञान की जरूरत नहीं है। इतना ही नहीं भारत ने पाकिस्तान को ‘टेररिस्तान’ भी कहा।

भारत ने कहा कि पाकिस्तान अपनी ही जमीन पर मानवाधिकारों का उल्लंघन करता रहा है। भारत ने कहा कि ‘टेररिस्तान’ कोई गलतफहमी न पाले और अच्छे से समझ ले कि जम्मू-कश्मीर हमारा अभिन्न हिस्सा है।

बता दें कि गुरुवार को पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने गीदड़ भभकी देते हुए कहा है कि भारत की ‘कोल्ड स्टार्ट डॉक्ट्रिन’ से निपटने के लिए हमारे देश ने कम दूरी के परमाणु हथियार तैयार कर लिए हैं।

अब्बासी ने यह भी कहा कि पाकिस्तान के परमाणु शस्त्रागार सुरक्षित हैं। कोल्ड स्टार्ट पाकिस्तान के साथ संभावित युद्ध के लिए भारत की सशस्त्र सेनाओं द्वारा विकसित किया गया सैन्य डॉक्ट्रिन है।

इसके तहत भारत के सैन्य बलों को युद्ध की स्थिति में पाकिस्तान की ओर से परमाणु हमले का जवाब देने के लिए हमले करने की मंजूरी है।

TOPPOPULARRECENT