Wednesday , December 13 2017

पाकिस्तान: इंतिख़ाबी मुहिम मुसलसल बम हमलों की ज़द में

इस्लामाबाद, 30 अप्रैल (ए पी) पाकिस्तान में जैसे जैसे 11 मई के आम इंतिख़ाबात क़रीब आते जा रहे हैं, दहशतगर्दों के मुख़्तलिफ़ इंतिख़ाबी इजतिमाआत और अवामी मुक़ामात पर हलाकतख़ेज़ बम हमले भी ज़्यादा होते जा रहे हैं।

इस्लामाबाद, 30 अप्रैल (ए पी) पाकिस्तान में जैसे जैसे 11 मई के आम इंतिख़ाबात क़रीब आते जा रहे हैं, दहशतगर्दों के मुख़्तलिफ़ इंतिख़ाबी इजतिमाआत और अवामी मुक़ामात पर हलाकतख़ेज़ बम हमले भी ज़्यादा होते जा रहे हैं।

एक तरफ़ सियासतदान इंतिख़ाबी मुहिम जारी रखे हुए हैं तो दूसरी तरफ़ सयासी जमातों के दफ़ातिर पर दहशतगर्दाना हमले जारी हैं। गुज़िश्ता रोज़ मुख़्तलिफ़ शहरों जैसे कराची, हैदराबाद, पिशावर, कोहाट, कोइटा और सवाबी में आज़ाद उम्मीदवारों और सयासी जमातों के दफ़ातिर पर बम धमाकों में 10 अफ़राद जांबाहक़ और 45 दीगर ज़ख़्मी हो गए।

सूबा ख़ैबर पख्तून ख्वाह में ऐसे ही दो नए बम हमलों में कम अज़ कम 9 अफ़राद हलाक और तक़रीबन 20 दीगर ज़ख़्मी हो गए। अभी तक इन दोनों बम हमलों की किसी भी गिरोह या अस्करीयत पसंद तंज़ीम ने ज़िम्मेदारी क़ुबूल नहीं की।

पुलिस के मुताबिक़ नूर अकबर का ताल्लुक़ शीया मुस्लिम अक़लीयती आबादी से है और मुम्किन है कि उन के इंतिख़ाबी दफ़्तर को इसी वजह से हमले का निशाना बनाया गया हो।

पुलिस ओहदादार मुज्तबा हुसैन के बाक़ौल नूर अकबर के इंतिख़ाबी दफ़्तर पर हमले में महलूक और ज़ख़्मी तमाम 16 अफ़राद इस मुक़ामी सियासतदान के हामी या क़रीबी कारकुन थे।

TOPPOPULARRECENT