Friday , December 15 2017

पाकिस्तान इस साल‌ एशिया की बदतरीन वन्डे टीम

साल 2013 के दौरान वन्डे क्रिकेट में पाकिस्तान की जीत का तनासुब एशियाई टीमों में सब से कम रहा और साबिक़ आलमी चैंपिय‌न क्रिकेट टीम की कामयाबी का तनासुब अफ़्ग़ानिस्तान और बंगलादेश की टीमों से भी कम रहा और पाँच एशियाई टीमों में मिसबाहुल-

साल 2013 के दौरान वन्डे क्रिकेट में पाकिस्तान की जीत का तनासुब एशियाई टीमों में सब से कम रहा और साबिक़ आलमी चैंपिय‌न क्रिकेट टीम की कामयाबी का तनासुब अफ़्ग़ानिस्तान और बंगलादेश की टीमों से भी कम रहा और पाँच एशियाई टीमों में मिसबाहुल-हक़ की टीम आख़िरी नंबर पर है।

साल 2013 में एक‌ जनवरी ता अब तक 11 माह के दौरान खेले गए मैचों में एशियाई टीमों की कारकर्दगी और कामयाबी के तनासुब के लिहाज़ से पहले नंबर पर अफ़्ग़ानिस्तान ने मैच खेले और चारों मैच जीते, अफ़्ग़ानिस्तान की कामयाबी का तनासुब 100 फ़ीसद है।

दूसरे नंबर पर हिंदुस्तान ने 28 मैच खेले,20 मैच जीते, 7 मैच हारे और एक मैच ग़ैर फ़ैसला कुन रहा। हिंदुस्तानी टीम की कामयाब का तनासुब 4.07 फ़ीसद है। तीसरे नंबर पर बंगलादेश ने मैच 9 खेले,5 मैच जीते, 3 मैच हारे और एक मैच ग़ैर फ़ैसलाकुन रहा। बंगलादेश की कामयाबी का तनासुब 62.50 फ़ीस्द है। चौथे नंबर पर श्रीलंका ने 22 मैच खेले,11 जीते,9 हारे और 2 ग़ैर फ़ैसलाकुन रहे।

श्रीलंका की कामयाबी का तनासुब55 फ़ीसद है। पांचवें और आख़िरी नंबर पर पाकिस्तान ने 25 मैच खेले,11जीते,12 हारे और 2 मैच बराबर रहे कामयाबी का तनासुब 48 फ़ीसद है। महंगे ग़ैरमुल्की कोच रखने के बावजूद पाकिस्तानी क्रिकेट टीम की कारकर्दगी बेहतर होने के बजाय तनज़्ज़ुली की जानिब गामज़न है और ये अफ़्ग़ानिस्तान और बंगलादेश की टीमों से भी कमतर बन चुकी है।

TOPPOPULARRECENT