Tuesday , August 14 2018

पाकिस्तान एशिया कप व‌ टी 20 वर्ल्ड कप में शामिल होगा: पी सी बी

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पी सी बी) के चेयरमेन ज़का-ए-अशरफ़ ने कहा है कि बिग थ्री की कार्रवाई बैक डोर डिप्लोमेसी से नाकाम बनाई और मुख़्तलिफ़ बोर्ड के साथ राबिता करके इस हवाले से जल्दबाज़ी में कोई फ़ैसला नहीं होने दिया,पाकिस्तान ने टी 20 वर

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पी सी बी) के चेयरमेन ज़का-ए-अशरफ़ ने कहा है कि बिग थ्री की कार्रवाई बैक डोर डिप्लोमेसी से नाकाम बनाई और मुख़्तलिफ़ बोर्ड के साथ राबिता करके इस हवाले से जल्दबाज़ी में कोई फ़ैसला नहीं होने दिया,पाकिस्तान ने टी 20 वर्ल्ड कप और एशिया कप में शामिल होने का फ़ैसला किया है।

लाहौर में मीडिया कान्फ़्रेंस में उन्होंने कहा कि बंगलादेश को इस में फ़ायदा नज़र आया इस लिए उसने इस फ़ैसले की हिमायत की। बंगलादेश क्रिकेट बोर्ड आई सी सी के इजलास से एक रात पहले पाकिस्तान,जुनूबी अफ़्रीक़ा और श्रीलंका के साथ था लेकिन इजलास के दौरान उसने अपना मौक़िफ़ तबदील कर के हिंदुस्तानी तजावीज़ की हिमायत कर दी।

वेस्ट इंडीज़ ने भी हमें राबते करके हिमायत का यक़ीन दिलाया था लेकिन अब 8 फरवरी को होने वाले इजलास में तमाम क्रिकेट बोर्ड हतमी फ़ैसला करेंगे। उन्होंने कहा कि वज़ीर-ए-आज़म नवाज़ शरीफ़ हमारे सरपरस्त हैं, उनसे मुलाक़ात का वक़्त मांगा है उन्हें भी बिग थ्री के बारे में तमाम सूरत-ए-हाल से आगाह करूंगा उनकी और गवर्निंग बोर्ड की सलाह‌ से इस बारे में कोई फ़ैसला होगा।

अशरफ़ ने कहा बंगलादेश‌ में होने वाले एशिया कप और वर्ल्डकप आई सी सी के ईवंट हैं, ये दो तरफ़ा सीरीज़ नहीं है, इस में शिरकत का जज़बात से कोई ताल्लुक़ नहीं है इस लिए पी सी बी ने दोनों ईवंट में शिरकत का फ़ैसला किया है। आई सी सी के इजलास में ऑस्ट्रेलियन क्रिकेट बोर्ड के हुक्काम के साथ होने वाली तल्ख़ कलामी के बारे में उन्होंने कहा कि उनके ओहदेदारों ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड का मज़ाक़ उड़ाया था कि वहां हर छः माह बाद कोई दूसरा ओहदेदार होता है जबकि हमारे मुल्क में चार, चार साल‌ तक एक ही ओहदेदार काम करता है।

उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान ने सिर्फ़ पाकिस्तान को नहीं कई दूसरे मुल्कों को भी सीरीज़ खेलने की पेशकश की है, हमारा जवाब था कि पहले भी ऐसी पेशकश की गई थी, इस बार हम बैंक गारंटी के बाद सीरीज़ खेलेंगे। ज़का-ए-अशरफ़ ने कहा कि नए फार्मूले के मुताबिक़ 3 बड़े ममालिक का आमदनी में हिस्सा बढ़ाया गया है लेकिन यक़ीन दहानी कराई गई है कि हमारे हिस्से में कमी नहीं आएगी।

अशरफ़ के मुताबिक‌ हम चाहते हैं कि तमाम बोर्डस मिल कर चलें, पीछे जाने से क्रिकेट तबाह होजाएगी। चेयरमेन पी सी ने कहा था कि हिंदुस्तान ने जो कुछ कहा कम से कम उसकी ज़मानत चाहिए,असल मक़सद पैसे है और बिग थ्री के पास देने को बहुत कुछ है लेकिन हमारे पास क्रिकेट के सिवा देने को कुछ नहीं।

TOPPOPULARRECENT