Saturday , January 20 2018

पाकिस्तान की उमा-ए-पर अदम तहम्मुल की मुहिम

हरियाणा के एक सीनियर वज़ीर अनील विज ने आज अदम तहम्मुल के मसले को एक नया रख दिया है और ये इल्ज़ाम आइद किया है कि बाज़ लोग पाकिस्तान के उमा पर ये मसला उछाल रहे हैं ताकि अक़वाम-ए-मुत्तहिदा सिक्योरिटी काउंसिल की मुस्तक़िल रकनीत हासिल करने के लिए हिन्दुस्तान की कोशिशों को नाकाम बनादिया जाये।

इन्होंने अदम रवादारी के मसले पर फ़िल्मी अदाकार आमिर ख़ान के रिमार्कस को बे मौक़ा और गैरज़रूरी क़रार दिया और उन्हें नज़रेसानी का मश्वरा दिया। मनोहर लाल ख़तर की ज़ेर-ए-क़ियादत बी जे पी हुकूमत में वज़ीर सेहत स्पोर्टस अनील विज ने कहा कि हमारे मुल्क में बाज़ अफ़राद पाकिस्तान की उमा-ए-पर अदम तहम्मुल का मसला उछाल रहे हैं।

ये लोग एसा माहौल बनाने की कोशिश में हैं कि अक़वाम-ए-मुत्तहिदा सलामती काउंसिल में मुस्तक़िल रकनीत हासिल करने के मौक़े से हिन्दुस्तान महरूम हो जाएगी। इन्होंने इल्ज़ाम आइद किया कि ये साज़िश पाकिस्तान में रची गई एक मुहिम , मुस्तक़िल रकनीत हासिल करने से क़ासिर होजाएं।

इन्होंने नाम निहाद सेकूलर ताक़तों को तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि उन्हें वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी की क़ाइदाना सलाहियतें हज़म नहीं हो रही हैं जोकि सिक्योरिटी काउ‍ंसिल में मुस्तक़िल रकनीत हासिल करने के लिए एड़ी चोटी का ज़ोर लगा रहे हैं। वाज़िह रहे कि फ़िल्मी अदाकार आमिर ख़ान ने कल मुल्क में नाख़ुशगवार वाक़ियात पर इज़हार तशवीश करते हुए बताया था कि उनकी अहलिया किरण राव‌ इस क़दर ख़ौफ़ज़दा हो गई है कि तर्क-ए-वतन के बारे में सोच रही हैं।

जिस पर शदीद रद्द-ए-अमल ज़ाहिर करते हुए मिस्टर अनील विज ने कहा कि मुल्क में अदम तहम्मुल पर किस ने तनाज़ा छेड़ा है और ये लोग उस वक़्त कहाँ थे जब 1984 में मुख़ालिफ़ सिख फ़सादात‌ हुए थे और इस वक़्त क्यों सदाए एहतेजाज बुलंद नहीं की थी।

TOPPOPULARRECENT