Thursday , July 19 2018

पाकिस्तान की कम से कम मुज़ाहमत की पॉलिसी बरक़रार

पाकिस्तान के वज़ीरे आज़म नवाज़ शरीफ़ ने अपने मुल्क का ये मौक़िफ़ दोहराया है कि वो ख़ित्ते में अमन का ख़ाहां है और ज़्यादा से ज़्यादा असलहा हासिल करने की दौड़ में शामिल नहीं। उन्हों ने ये ब्यान जुमा को नेशनल कमांड सेंटर और जौहरी हथियारों

पाकिस्तान के वज़ीरे आज़म नवाज़ शरीफ़ ने अपने मुल्क का ये मौक़िफ़ दोहराया है कि वो ख़ित्ते में अमन का ख़ाहां है और ज़्यादा से ज़्यादा असलहा हासिल करने की दौड़ में शामिल नहीं। उन्हों ने ये ब्यान जुमा को नेशनल कमांड सेंटर और जौहरी हथियारों की एक ज़ख़ीरागाह के दौरे के मौक़ा पर दिया। वज़ीरे आज़म ने कहा कि मुल्क के जौहरी असासे मुकम्मल तौर पर महफ़ूज़ हैं।

पाकिस्तान की तज़वीराती सलाहीयत की बुनियाद कम अज़ कम और काबिले भरोसा क़ुव्वत मुज़ाहमत की हिक्मते अमली ही रहेगी। स्ट्रेटेजिक प्लान्ज़ डीवीज़न के डायरेक्टर जेनरल लेफ़्टिनेन्ट जेनरल (रिटायर्ड) ख़ालिद अहमद क़िदवाई ने वज़ीरे आज़म को बताया कि नेशनल कमांड सेंटर मुकम्मल तौर पर महफ़ूज़ तंसीब है।

TOPPOPULARRECENT