Monday , December 11 2017

पाकिस्तान की मुख्यधारा राजनीति में आने से हाफिज़ सईद को रोका जाना चाहिए- पूर्व CIA अधिकारी

वाशिंगटन। अमेरिका के खुफिया विभाग के एक पूर्व अधिकारी ने आज कहा कि मुंबई आतंकवादी हमले के मास्टर माइंड हाफिज सईद के हाथ खून से सने हुए हैं और वह पाकिस्तान की मुख्यधारा की राजनीति में कट्टरपंथी तत्वों को लाना चाहता है।

सीआइए के पूर्व उप निदेशक माइकल मोरेल ने ट्वीट किया, सईद आतंकवादी है। लश्करे तैयबा के साथ काम कर चुका है, एक कश्मीरी आतंकवादी संगठन और हमलों में अलकायदा की सहायता कर चुका ह।

सईद के नजरबंदी से रिहा होने के बाद सीआइए के पूर्व अधिकारी ने कहा, उसके हाथ खून से सने हैं और वह पाकिस्तान की मुख्यधारा की राजनीति में कट्टरपंथी तत्वों को लाना चाहता है।

संयुक्त राष्ट्र और अमेरिकी की ओर से आंतकवादी घोषित सईद जनवरी से नजरबंदी में था लेकिन लाहौर उच्च न्यायालय के रिहा किए जाने के आदेश मिलने के बाद सईद को रिहा कर दिया गया है।

इस घटनाक्रम से चिंतित अमेरिका ने पाकिस्तान से सईद को दोबारा गिरफ्तार करने और उसके अपराधों के लिए उसके खिलाफ आरोप तय करने की मांग की है।

अमेरिका ने यह भी सुनिश्चित करने को कहा है कि जमात उद दावा का नेता सलाखों के पीछे हो। वहीं आंतकवादी संगठनों पर जाने माने विशेषज्ञ क्रिस्टीन फेयर ने ट्वीट किया, नहीं, जेयूडी इस्लामिक स्टेट से जुड़ा नहीं हैं।

क्या धोखेबाजी है, कीनन।हाफिज सईद की रिहाई के साथ ही पाकिस्तान में जिहादियों का मुख्यधारा में राजनीतिकरण पूरा हुआ।एनबीसी न्यूज का कहना है कि सईद की रिहाई से अमेरिका और पाकिस्तान के संबंध दोबारा बिगड़ सकते हैं।

वहीं वाशिंगटन एक्जामिनर ने अपने ओपैड में कहा कि ट्रंप प्रशासन को सईद को पकड़ने अथवा मारने के लिए भारत के साथ मिल कर काम करना चाहिए।

TOPPOPULARRECENT