पाकिस्तान के मंत्रालयों में लगाए गए बायोमेट्रिक शौचालयों पर सार्वजनिक आक्रोश

पाकिस्तान के मंत्रालयों में लगाए गए बायोमेट्रिक शौचालयों पर सार्वजनिक आक्रोश

इस्लामाबाद : पाकिस्तान ने शीर्ष रैंकिंग अधिकारियों के लिए अपने मंत्रालयों में शौचालयों के बाहर बायोमेट्रिक मशीनें लगाई हैं। यह प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा “वीवीआईपी कल्चर” को समाप्त करने के चुनाव अभियान के दौरान किए गए वादों के विपरीत है। एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक उद्योग और उत्पादन मंत्रालय में वीवीआईपी शौचालय एक निश्चित स्तर से ऊपर के अधिकारियों तक ही सीमित हैं। हालांकि, अन्य मंत्रालयों में समान स्तर के अधिकारी भी इन सुविधाओं का उपयोग कर सकते हैं।

सूत्रों के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया है कि ये शौचालय अतिरिक्त सचिव रैंक या उससे ऊपर के अधिकारियों के उपयोग के लिए हैं। अतिरिक्त सचिव के पद से नीचे के कर्मचारियों को इस कदम से पीड़ा होती है, क्योंकि उनके ब्लॉकों में शौचालयों में बुनियादी प्रसाधन जैसे साबुन भी नहीं होते हैं। देश में सार्वजनिक सुविधाओं की बुरी स्थिति का हवाला देकर पाकिस्तान में इसके खिलाफ आलोचना हो रही है।

यह “گندگی” ही है कि मैं पाकिस्तान की यात्रा नहीं करना चाहती। जब मैं लाहौर हवाई अड्डे पर पिछली गर्मियों के बाथरूम में गई थी तो गंदे थे, यहां तक ​​कि गंदे शब्द भी इसके लिए छोटा शब्द है। वीआईपी लाउंज में टैप लीक हो रहे थे।

– सोफिया (@ sofiakhan127) 31 मार्च, 2019

संघीय राजधानी में शीर्ष रैंकिंग अधिकारियों के लिए उद्योग मंत्रालय और उत्पादन मंत्रालय के बाथरूम के बाहर बॉयोमीट्रिक मान्यता मशीनें स्थापित की गई हैं। यह वीआईपी संस्कृति को समाप्त करने के #PTI सरकार द्वारा किए गए दावों के विपरीत है।
https://t.co/pSUwkOFWgS
– असद अली तूर (@Asadatoor) 18 जुलाई, 2019

उफ्फ क्या आपने लाहौर एयरपोर्ट के बाथरूम देखे हैं। मुझे सचमुच पुकिंग जैसा लगा। यहां तक ​​कि वीआईपी लाउंज के बाथरूम भी दयनीय थे। यह पाकिस्तान में लंबी दूरी की यात्रा से बचने का एक कारण है।

– सोफिया (@ sofiakhan127) 8 अक्टूबर, 2018

Top Stories