Monday , May 28 2018

पाकिस्तान के साथ मुज़ाकरात का जवाज़ कहाँ ?

फ़ायर बंदी की ख़िलाफ़ वरज़ीयों पर राज्य सभा में जे डी मेम्बर‌ का सवाल

फ़ायर बंदी की ख़िलाफ़ वरज़ीयों पर राज्य सभा में जे डी मेम्बर‌ का सवाल

राज्य सभा में आज जनतादल के एक रुकन ने सवाल उठाया कि हुकूमत ने पाकिस्तान के साथ मोतमिद ख़ारिजा सतह की बात चीत मुनाक़िद करने का फैसला क्यों किया है और फ़ायर बंदी की लगातार ख़िलाफ़ वरज़ीयों के पस-ए-मंज़र में इस मुल्क के साथ निमटने के माम‌ले में उसकी पॉलीसी किया है ? वक़फ़ा सिफ़र के दौरान ये मसला उठाते हुए पवन वर्मा (जे डी यू) ने कहा कि नई हुकूमत का जायज़ा लेने के बाद से सीज़ फ़ायर की 19 ख़िलाफ़ वरज़ीयां होचुकी हैं ,महज़ दो माह में इस तरह के 19 वाक़ियात पेश आए हैं।

उन्हों ने कहा कि ये हरकतें पाकिस्तान में वाक़्य दहश्तगर्द कैंम्पों से होरही हैं और मुसलसल ख़िलाफ़वरज़ी का यही मतलब है कि सरमाई दिनों में हमारे पास वादी से कई दहश्तगरदों को घुसाने की कोशिशें होंगी । वादी में दहश्तगरदाना सरगर्मियां बढ़ जाने पर अफ़सोस ज़ाहिर करते हुए उन्होंने याद दिलाया कि बी जे पी ने लोक सभा चुनाव‌ से क़बल पाकिस्तान के ख़िलाफ़ काफ़ी सख़्त मौक़िफ़ इख़तियार किया था लेकिन फिर इस ने पाकिस्तानी वज़ीर-ए-आज़म नवाज़ शरीफ़ को इंतेख़ाबात के बाद मदऊ किया और अब 25 अगस्त को मोतमिद ख़ारिजा सतह की बात चीत मुनाक़िद की जा रही है।

TOPPOPULARRECENT