Thursday , December 14 2017

‘पाकिस्तान को कश्मीर से लाताल्लुक़ होना चाहीए’

ओबामा इंतेज़ामीया दूसरी मीयाद के लिए फिर एक बार सरगर्म होगया है। ऐसे में जुनूबी एशियाई उमूर के एक अमेरीकी माहिर ने कहा कि अब वक़्त आचुका है कि अमेरीका ये वाज़िह ऐलान करदे कि पाकिस्तान को कश्मीर पर दावा नहीं करना चाहीए।

ओबामा इंतेज़ामीया दूसरी मीयाद के लिए फिर एक बार सरगर्म होगया है। ऐसे में जुनूबी एशियाई उमूर के एक अमेरीकी माहिर ने कहा कि अब वक़्त आचुका है कि अमेरीका ये वाज़िह ऐलान करदे कि पाकिस्तान को कश्मीर पर दावा नहीं करना चाहीए।

इस के अलावा शाह कश्मीर के फ़ैसला को क़तई तसव्वुर करते हुए इसे तस्लीम करलिया जाना चाहीए। अमेरीकी ख़ारिजा पालिसी मैगज़ीन में शाये इस ख़बर से अमेरीकी थिंक टैंक और माहिरीन के बदलते मूड की अक्कासी होती है।

इस मैगज़ीन में कहा गया है कि अमेरीका को चाहीए कि पाकिस्तान को दी जाने वाली सियोल या फ़ौजी मदद का सिलसिला रोक दे और साथ ही साथ ये भी वाज़िह करदे कि न्यूक्लियर मादों के किसी भी तरह के फैलाओ के लिए ईस्लामाबाद ज़िम्मेदार होगा।

अमेरीका को अली उल-ऐलान ये मौक़िफ़ वाज़िह करदेना चाहीए कि सेक्यूरेटी के नाम पर पाकिस्तान को दी जाने वाली रियायतें और मुराआत ख़त्म की जा रही हैं।

अस्सिटैंट प्रोफ़ैसर जॉर्ज टाउन यूनीवर्सिटी स्कियोरटी एसटडीज़ प्रोग्राम सी कर्स्टन फ़ीर ने ये बात कही। उन्होंने बताया कि पाकिस्तान की स्कियोरटी शोबा से वाबस्ता शख़्सियतों का ये ईक़ान है कि अमेरीका इसे दहश्तगर्दी को पोलिसी आला कार के तौर पर इस्तिमाल करने की सज़ा नहीं दे सकता।

लेकिन दूसरी तरफ़ अमेरीका की पालिसी भी कुछ ईसी तरह की है। हालाँकि ऐसे करने में किसी किस्म का जोखिम नहीं है। चुनांचे ओबामा इंतेज़ामीया को अब पाकिस्तान के ताल्लुक़ से इख़तियार करदा हिक्मत-ए-अमली तबदील करनी चाहीए।

उन्होंने कहा कि अमेरीका इस हक़ीक़त को तस्लीम करे कि पाकिस्तान के न्यूक्लियर हथियार हिंदूस्तान और अमेरीका दोनों के लिए ख़तरनाक साबित होसकते हैं।

इस इलाक़ा में मुतअद्दिद बोहरान और अमेरीकी मुदाख़िलत के बाइस पाकिस्तान जो गलतीयां कररहा है उस की सज़ा नहीं मिल पारही है।

TOPPOPULARRECENT