Sunday , December 17 2017

पाकिस्तान गृह मंत्रालय ने निर्वाचन आयोग से हाफिज सईद की पार्टी पर प्रतिबंध लगाने की मांग की

इस्लामाबाद : पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने निर्वाचन आयोग से पत्र लिख कर मांग की है कि लश्कर-ए-तैयबा से संबंधित नई गठित राजनीतिक पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग के आधिकारिक पार्टी के तौर पर पंजीकरण के आवेदन को खारिज किया जाय। दो पेजों के दस्तावेज में गृह मंत्रालय ने लिखा, ‘मिल्ली मुस्लिम लीग के रजिस्ट्रेशन का समर्थन नहीं किया जा सकता।’ चुनाव आयोग के प्रवक्ता ने पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने इस पत्र की पुष्टि की है।

सईद फिलहाल पाकिस्तान में अपने ही घर में नजरबंद है। पाकिस्तान सरकार की ओर से उसके खिलाफ सख्ती से कार्रवाई न किए जाने के चलते भारत और अमेरिका के साथ उसके संबंध सही नहीं चल रहे हैं। गृह मंत्रालय का कहना है कि वैचारिक तौर पर मिल्ली मुस्लिम लीग भी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा और उससे जुड़े अतिवादी संगठनों जमात-उद-दावा और फलाह-ए-इनसानियत की तरह है। मंत्रालय के इस पत्र पर टिप्पणी करते हुए मिल्ली मुस्लिम लीग के प्रवक्ता ताबिश कय्यूम ने कहा कि यह गैरकानूनी है। ताबिश ने कहा कि मिल्ली मुस्लिम लीग कोई बस या ट्रक नहीं, जिसे रजिस्ट्रेशन की जरूरत है। उन्होंने मिल्ली मुस्लिम लीग के तार किसी आतंकी संगठन से जुड़े होने से भी इनकार किया।

राजनीतिक सूत्रों और आर्मी के एक पूर्व जनरल का कहना है कि आईएसआई पाकिस्तान स्थित कई भारत विरोधी संगठनों को राजनीति की मुख्य धारा में लाने की योजना पर काम कर रही है। लाहौर में 17 सितंबर को संसदीय सीट के लिए हुए उपचुनाव में मिल्ली मुस्लिम लीग के 5 फीसदी वोट हासिल करने के बाद पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने यह पत्र लिखा है।

TOPPOPULARRECENT