Monday , July 23 2018

पाकिस्तान: जैनब बलात्कार और हत्या मामलें में लाहौर हाईकोर्ट ने फांसी की सजा को रखा बरकरार

लाहौर हाई कोर्ट ने मंगलवार को इमरान अली की मौत की सजा को बरकरार रखा। इमरान अली को 7 साल की बच्ची जैनाब से बलात्कार और हत्या के मामले में मौत की सजा सुनाई गई है। कोर्ट के फैसले के खिलाफ इमरान अली ने याचिका दायर की थी कि।

उसका कहना था कि उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है तो उसके साथ उदारता से निपटा जाना चाहिए था। अपनी अपील में, अपराधी ने कहा कि परीक्षण जल्दबाजी में किया गया था और कानूनी आवश्यकताओं को पूरा नहीं किया गया था।

5 जनवरी को जैनब कसूर में अपने घर के पास से ट्यूशन जाते वक्त लापता हो गयी थी।उसके माता-पिता उमरा करने के लिए सऊदी अरब गए हुए थे और वह अपनी एक रिश्तेदार के साथ रह रही थी।अपहरण के बाद एक सीसीटीवी फुटेज में वह पीरोवाला रोड के पास एक अजनबी के साथ जाती दिखाई दी।

इसके बाद 9 जनवरी को शाहबाज खान रोड के पास कचरे के एक ढेर से उसका शव बरामद किया गया था जिसके बाद पाकिस्तान में आक्रोश फैल गया था। पाक में इस घटना के खिलाफ लोगों ने जमकर प्रदर्शन किए थे।

TOPPOPULARRECENT