Wednesday , August 22 2018

VIDEO: पाकिस्तान टीम में आया अब तक का सबसे खतरनाक बॉलर, 7 मैच में 68 मेडन, 36 विकेट,

पाकिस्तानी क्रिकेट टीम हमेशा से ही तेज गेंदबाजों का गढ़ मानी जाती रही है. नब्बे और शुरुआती 2000 के दशक में जहां वसीम अकरम, वकार यूनुस और शोएब अख्तर की तूती बोली. तो पिछले कुछ सालों में मोहम्मद आमिर और हसन अली ने जमकर कहर बरपाया. अब पाकिस्तान टीम में एक और खतरनाक गेंदबाज की एंट्री हो गई है. इस गेंदबाज का नाम है मोहम्मद अब्बास.

28 साल के अब्बास ने साल 2017 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू किया था. डेब्यू करने के बाद से ही वह कहर बरपाते आ रहे हैं. अब्बास की खास बात यह कि वह गेंद को स्विंग कराना बखूबी जानते हैं और इसी के सहारे वह इंग्लैंड और आयरलैंड में बल्लेबाजों को नचाने में कामयाब हो रहे हैं.

अब्बास मौजूदा समय में इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स टेस्ट खेलने में व्यस्त हैं. उन्होंने इस मैच की पहली पारी में धारदार गेंदबाजी की और 14 ओवरों में 7 मेडन डालते हुए सिर्फ 23 रन देकर 4 विकेट झटक डाले. अब्बास की शानदार गेंदबाजी की बदौलत ही इंग्लैंड पहली पारी में 184 रनों पर सिमट गई. आलम यह है कि पाकिस्तान ने मैच में पकड़ मजबूत कर ली है.

अब्बास की गेंदों पर रन बनाना कभी भी आसान नहीं होता. वह अबतक 7 टेस्ट खेल चुके हैं. इस दौरान उन्होंने 68 मेडन डाले हैं. साथ ही वह विकेट निकालने में भी पीछे नहीं हैं और अबतक 36 विकेट निकाल चुके हैं. अक्सर यह देखा जाता है कि भारतीय उपमहाद्वीप के गेंदबाज बाहरी महाद्वीपों में जाकर उतना असर नहीं डाल पाते लेकिन अब्बास इंग्लैंड और आयरलैंड में कहर बरपा रहे हैं. पिछले दिनों आयरलैंड में खेले गए एकमात्र टेस्ट मैच में उन्होंने 9 विकेट झटके थे और अपनी शानदार गेंदबाजी का नमूना पेश किया था. गौर करने वाली बात है कि उनका इकॉनमी सिर्फ 2.44 का है जिसको देखते हुए उन्हें पाकिस्तान की वनडे टीम से बुलावा आ सकता है.

फर्स्ट क्लास में शानदार रहा है रिकॉर्ड
इतना शानदार प्रदर्शन करने के बावजूद अब्बास को फर्स्ट क्लास में डेब्यू करन के 9 साल बाद टीम में मौका मिला है. यही पाकिस्तान मैनेजमेंट के सूरते-हाल को बयां करता है. अब्बास ने अब तक 72 फर्स्ट क्लास मैचों में 20.95 की औसत के साथ 320 विकेट झटके हैं. जाहिर है कि उन्होंने अपने प्रदर्शन के दमपर चयनकर्ताओं को सिलेक्शन के लिए मजबूर कर दिया.

साल 2019 वर्ल्ड कप इंग्लैंड में ही खेला जाना है. इस लिहाज से वह पाकिस्तान के तीसरे गेंदबाज के तौर पर शामिल किए जा सकते हैं. जाहिर है कि मोहम्मद आमिर, हसन अली के साथ वह और भी खूंखार हो जाते हैं. ऐसे में 2019 वर्ल्ड कप में वह पाकिस्तान के लिए तुरुप का इक्का साबित हो सकते हैं

TOPPOPULARRECENT