पाकिस्तान – तालिबान अमन मुज़ाकरात की नाकामी का अंदेशा

पाकिस्तान – तालिबान अमन मुज़ाकरात की नाकामी का अंदेशा
हुकूमते पाकिस्तान और तालिबान की नामज़द टीम के दरमयान अमन मुज़ाकरात का पहला दौर इस्लामाबाद में मुकम्मल हो चुका है। इन मुज़ाकरात का मक़सद एक लाएह अमल तैयार करना और 10 साल क़दीम दहशत का ख़ात्मा करना है। हुकूमत ने 5 शराइत पेश की हैं जिन में

हुकूमते पाकिस्तान और तालिबान की नामज़द टीम के दरमयान अमन मुज़ाकरात का पहला दौर इस्लामाबाद में मुकम्मल हो चुका है। इन मुज़ाकरात का मक़सद एक लाएह अमल तैयार करना और 10 साल क़दीम दहशत का ख़ात्मा करना है। हुकूमत ने 5 शराइत पेश की हैं जिन में दुश्मनीयों का इख़तेताम बुनियादी शर्त है।

हुकूमत ने कहा कि अमन का सफ़र शुरू हो चुका है। तालिबान की टीम ने क़ियादत के साथ मुजव्वज़ा शराइत पर तबादले ख़्याल के लिए शुमाल मग़रिबी पाकिस्तान के सफ़र से इत्तिफ़ाक़ कर लिया है। बी बी सी के बामूजिब दोनों फ़रीक़ैन ने एक मुशतर्का ब्यान जारी किया है जिस का मक़सद दोनों फ़रीक़ैन के दरमयान एक मुआहिदा की तकमील है।

दो सालिस टीमें इस के लिए कोशिश कर रही हैं लेकिन दरहक़ीक़त मुज़ाकरात के लिए हुकूमते पाकिस्तान का मुजव्वज़ा मुज़ाकरात को नाकाम भी बना सकता है। क़ब्ल अज़ीं हुकूमते पाकिस्तान ने बात-चीत के लिए तालिबान के हथियार डाल देने की शर्त आइद की थी लेकिन उस के मुस्तरद किए जाने के बाद अपनी शर्त से दस्तबरदारी अख़्तियार करली।

Top Stories