Wednesday , September 19 2018

पाकिस्तान नहीं भेजो मुसलमानों को अमेरिका भेजो, तानाशाह से बादशाह की अच्छी दोस्ती है- आज़म खान

लखनऊ। शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सैयद वसीम रिजवी के राम मंदिर मुद्दे पर दिए बयान पर आज़म खान ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि भेजना है तो उन देशों में क्यूं भेजते हो जहां रोटी नहीं है।

आज़म ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना कसते हुए कहा कि पाकिस्तान भेजने के बजाय अमेरिका भेजें क्योंकि अमेरिकी तानाशाह से भी ‘बादशाह’ की अच्छी दोस्ती है।

रिजवी के बयान पर भड़के शिया धर्म गुरुओं ने कहा कि उन्हें साम्प्रदायिकता फैलाने के आरोप में गिरफ्तार कर जेल में डाल देना चाहिए। शिया उलेमा काऊंसिल के अध्यक्ष इफ्तेखार हुसैन इंकलाबी ने कहा कि रिजवी एक अपराधी हैं जिन्होंने वक्फ की संपत्तियों पर कब्जा किया है और उसे अवैध तरीके से बेचा है।

इससे पहले उत्तर प्रदेश के शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने कहा था कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का विरोध करने वाले मुस्लिमों को ‘पाकिस्तान या बंगलादेश’ चले जाना चाहिए। ऐसे मुसलमानों के लिए भारत में कोई स्थान नहीं है।

रिजवी ने शुक्रवार को अयोध्या में विवादित जमीन के पास नमाज पढ़ी और राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास से मुलाकात की। रिजवी ने बताया कि मस्जिद के नाम पर जो जेहाद फैलाना चाहते हैं उन्हें जरूर चले जाना चाहिए और आईएसआईएस प्रमुख अबू बकर अल बगदादी के गुट में शामिल होना चाहिए।

TOPPOPULARRECENT