Thursday , December 14 2017

पाकिस्तान ने कश्मीरी अलैहदिगी पसंदो को ‘‘फ्रीडम फाइटर’’ कहा

इस्लामाबाद: वज़ीर ए दिफा अरूण जेटली की तरफ से पाकिस्तान को एक सरहदी लकीर खींचे जाने और हुकूमत के साथ या हिंदुस्तान को तोड़ने की खाहिश रखने वालों के साथ बातचीत करने के बारे में फैसला करने को कहे जाने के एक दिन बाद जुमेरात के रोज़ इस पड

इस्लामाबाद: वज़ीर ए दिफा अरूण जेटली की तरफ से पाकिस्तान को एक सरहदी लकीर खींचे जाने और हुकूमत के साथ या हिंदुस्तान को तोड़ने की खाहिश रखने वालों के साथ बातचीत करने के बारे में फैसला करने को कहे जाने के एक दिन बाद जुमेरात के रोज़ इस पड़ोसी मुल्क ने कश्मीरी अलहैदगी पसंदो को ‘फ्रीडम फाईटर ’ कहा|

पाकिस्तानी दफ्तर खारेज़ा की तरजुमान तसनीम असलम ने कहा, ‘‘कश्मीरी (हुर्रियत) हिंदुस्तानी अलैहदगी पसंद नहीं हैं बल्कि वे लोग फ्रीडम फाइटर हैं| वे एक कब्जे वाले इलाके से हैं जिसे अकवाम मुत्तहदा से मंज़ूरी मिली हुई है|’’ हालांकि, दफ्तर खारेज़ा बाद में जारी किए गए सरकारी बयान में इन तब्सिरों का जिक्र नहीं किया गया है, लेकिन कहा गया है कि, ‘‘कश्मीरी हिंदुस्तानी अलहैदगी पसंद नहीं हैं , बल्कि वे कब्जे वाले इलाके के लोग हैं जो self-reference के अपने हुकूक के लिए लड़ रहे हैं जिसे अक़वाम मुत्तहदा की तजवीज़ की तरफ से मंज़ूरी हासिल है|’’असल इक़्तेबास को पाकिस्तान में सरकारी रेडियो पाकिस्तान समेत मुख्तलिफ खबरिया वेबसाइटों ने जारी किया है| प्रेस ब्रीफिंग की वीडियो भी दस्तयाब है|

दरअसल, वह एक पाकिस्तानी टीवी सहाफी के सवाल का जवाब दे रही थी जिसके जरिए जेटली के तब्सिरे पर जवाब मांगा गया था उन्होंने जेटली की इन तब्सिरों पर भी तीखा रद्दे अमल जताया जिसके तहत जेटली ने कहा था कि पाकिस्तान को यह फैसला करना चाहिए कि वह भारत से बात करना चाहता है या अलैहदगीपसंद कश्मीरी लीडरों से|

असलम ने कहा कि मुज़ाकरात के अमल में पाकिस्तान ‘‘किसी शर्त’’ को कुबूल नहीं करेगा|

पाकिस्तान से एक मुहतात इख्तेयारात चुनने को कहते हुए जेटली ने कल कहा था कि उसे इस बारे में एक सरहदी लकीर खींचनी चाहिए कि वह हुकूमत ए हिंद से बात करना चाहता है या फिर हिंदुस्तान को तोड़ने की खाहिश रखने वालों से बात करना चाहता है|

TOPPOPULARRECENT