Monday , December 11 2017

पाकिस्तान ने सरक्रीक के मुआमले पर हिंदूस्तानी मौक़िफ़ यकसर मुस्तर्द करदिया

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा। 8 जनवरी (एजैंसीज़) पाकिस्तान ने सरक्रीक के मुआमले पर हिंदूस्तान के मौक़िफ़ को यकसर मुस्तर्द करदिया है। ये बात अक़वाम-ए-मुत्तहिदा में पाकिस्तानी मिशन की जानिब से आलमी इदारे के सैक्रेटरी जनरल बांकी मून के नाम

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा। 8 जनवरी (एजैंसीज़) पाकिस्तान ने सरक्रीक के मुआमले पर हिंदूस्तान के मौक़िफ़ को यकसर मुस्तर्द करदिया है। ये बात अक़वाम-ए-मुत्तहिदा में पाकिस्तानी मिशन की जानिब से आलमी इदारे के सैक्रेटरी जनरल बांकी मून के नाम भेजे जाने वाले एक मकतूब में कही गई है। ये मकतूब 6 डिसमबर 2011-को लिखा गया था जिस को अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की वैब साईट में शामिल किया गया है।

क़ब्लअज़ीं मई और नवंबर 2009-ए-में अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के डीवीझ़न बराए समुंद्री उमूर-ओ-क़ानून बराए समुंद्र की वैब साईट पर इस हवाले से हिंदूस्तानी दावा शाय किया गया था। 96 किलोमीटर तवील ये समुंद्री दहाना हिंदूस्तानी रियासत गुजरात को सूबा सिंध से अलैहदा करता है। पाकिस्तान की जानिब से मकतूब में अपनाए जाने वाले मौक़िफ़ में कहा गया है कि हिंदूस्तान ने जो दावा किया है वो सरक्रीक के इलाक़ा में पाकिस्तान में पाकिस्तान की इलाक़ाई हदूद औरइलाक़ाई पानीयों में तजावुज़ है।

TOPPOPULARRECENT