Tuesday , July 17 2018

पाक परमाणु हथियार आतंकियों द्वार चुराए जाने का खतरा : फेडरेशन ऑफ अमेरिकन साइंटिस्ट्स की रिपोर्ट

नई दिल्ली : फेडरेशन ऑफ अमेरिकन साइंटिस्ट्स (FAS) की हालिया रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान ने देश के 9 अलग-अलग स्थानों पर अपने परमाणु हथियार रखे हैं। अमेरिकी परमाणु हथियार विशेषज्ञ और रिपोर्ट तैयार करने वाले हैंस क्रिस्टनसन ने कहा कि पाकिस्तान के परमाणु हथियार अलग-अलग बेस में स्थित स्टोरेज में रखे गए हैं और ये बेस परमाणु हथियार लॉन्च करने में सक्षम हैं। अमेरिका के ट्रंप प्रशासन के एक अधिकारी ने पिछले महीने कहा था कि अमेरिका सामरिक परमाणु हथियार विकसित किए जाने को लेकर चिंतित है जिसे विशेषरूप से युद्ध के लिए तैयार किया गया है। अमेरिका का मानना है कि इन हथियारों को आतंकियों द्वारा चुराए जाने का खतरा है।

उन्होंने बताया कि पाकिस्तान शॉर्ट रेंज का सब-स्ट्रैटेजिक परमाणु हथियारगृह बना रहा है, इसलिए मुखास्त्रों को क्षेत्रीय स्टोरेज साइट्स में भेजा जाएगा जिससे उन्हें असेंबल कर लॉन्च बेस तक भेजा जा सके। क्रिस्टनसन ने कहा, ‘छोटी दूरी वाले हथियार का इस्तेमाल संघर्ष की शुरुआत में किया जाता है, इसलिए ऐसे हथियार को संभवतः संकट की शुरुआत में ही भेजना होगा। इससे दुर्घटना का खतरा बढ़ जाएगा। अगर परंपरागत हमले में इसका इस्तेमाल हुआ तो सामरिक परमाणु हथियारों का इस्तेमाल व्यापक परमाणु युद्ध की तरफ लेकर चला जाएगा।’

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने पिछले सप्ताह ही अपने सामरिक और गैर-सामरिक परमाणु हथियारों पर कहा था कि पाकिस्तान इन हथियारों के जरिए भारतीय सेना की ‘कोल्ड स्टार्ट’ रणनीति से निपटने के लिए तैयार है। इन हथियारों में शॉर्ट रेंज के हथियार भी शामिल हैं। अब इन्हीं हथियारों को लेकर कहा जा रहा है कि ये किसी दुर्घटना का शिकार हो सकते हैं और इन्हें आतंकवादियों द्वारा चुराए जाने का खतरा भी है।

‘कोल्ड स्टार्ट’ पाकिस्तान के साथ संभावित युद्ध के लिए भारत की सशस्त्र सेनाओं द्वारा विकसित की गई रणनीति है। इसके तहत भारत की सेना को युद्ध की स्थिति में पाकिस्तान के परमाणु हमले का जवाब देने की मंजूरी मिली हुई है।

 

TOPPOPULARRECENT