पाकिस्तान में फेमस टीवी न्यूज चैनल ‘जियो न्यूज़’ को किया गया बैन, अॉफ एयर किया गया!

पाकिस्तान में फेमस टीवी न्यूज चैनल ‘जियो न्यूज़’ को किया गया बैन, अॉफ एयर किया गया!
Click for full image

पाकिस्तान में मीडिया की आवाज को दबाने की कोशिश काफी समय से की जा रही है। आए दिन पाकिस्तान में पत्रकारों की हत्याएं की जा रही हैं। इस बीच जानकारी है कि पाकिस्तान के एक बड़े न्यूज चैनल को बंद कर दिया गया है। जियो न्यूज पाकिस्तान का फेमस और लोकप्रिय चैनल है, जिसे बैन कर दिया गया है।

बताया जा रहा है कि ऐसा सेना और सिविल संस्थाओं के बीच चल रहे विवाद की वजह से किया गया है। मीडिया की आजादी पर पाकिस्तानी सरकार का ये बहुत बड़ा प्रहार है। इसको लेकर सियासी बयानबाजियां भी पाकिस्तान में शुरू हो गई हैं।

जियो न्यूज को ऑफ एयर किए जाने के बाद नेशनल असेंबली में विपक्ष के नेता सैयद खुर्शीद अहमद शाह ने प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए इस फैसले की कड़ी निंदा की है।

उन्होंने कहा है कि ये प्रधानमंत्री का सही फैसला नहीं है। उन्होंने कहा कि ये फैसला न्यायिय व्यवस्था के लिए सही नहीं है। उन्होंने कहा कि आपसी मतभेदों की वजह से कोई चैनल या फिर मीडिया संस्थान बंद नहीं किया जाना चाहिए।

बताया जा रहा है कि जियो न्यूज को पाकिस्तानी सेना के दबाव में बंद किया गया है। जियो चैनल को पाकिस्तान के कुछ इलाकों में बैन कर दिया गया है। जियो चैनल के इस ब्लैकआउट के पीछे किसका हाथ है, यह तो किसी ने नहीं बताया, लेकिन पाकिस्तान के मंत्री अहसान इकबाल ने कहा कि इसे पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेग्युलेटरी अथॉरिटी या सूचना मंत्रालय ने ऑफ एयर नहीं किया है।

वहीं जियो के एग्जिक्युटिव चीफ मीर इब्राहिम रहमान ने किसी पर इल्जाम लगाए बिना कहा कि चैनल देश के 80 प्रतिशत हिस्से में ऑफ एयर कर दिया गया है।’

एक समय पर पाकिस्तानी आर्मी का करीबी माना जाता था ये चैनल
सबसे पहला ब्लैकआउट मार्च के पहले हफ्ते में हुआ था, जब जियो चैनल पाक के छावनी क्षेत्रों में ऑफ एयर हो गया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, न्यूज से लेकर मनोरंजन और स्पोर्ट्स तक, जियो के सभी चैनल पूरे पाकिस्तान में ब्लॉक कर दिया गया।

आपको बता दें कि एक समय पर इस चैनल को पाकिस्तान और उसकी सेना का सबसे करीबी माना जाता था, लेकिन कहा जा रहा है कि पिछले कुछ सालों में जियो चैनल सेना के विरुद्ध जा रहा था और आलोचनात्मक टिप्पणी कर रहा था।

Top Stories