Friday , April 27 2018

पाकिस्तान में बैन हुआ मशहूर चैनल जियो टीवी

इस्लामाबाद : पाकिस्तान ने अपने देश के मशहूर न्यूज चैनल जियो टीवी का प्रसारण रोक दिया है. बताया जा रहा है कि चैनल मिलिट्री नेतृत्व के खिलाफ जा रहा था. ऑफ एयर किए जाने के बाद चैनल ने कहा कि यह मीडिया संगठन को बंद करने की एक कोशिश है. आंतरिक मंत्री अहसान इकबाल ने कहा है कि वर्तमान सरकार ने चैनल के निलंबन का आदेश नहीं दिया है लेकिन वो यह बताने में नाकाम रहे कि किस कारण से टीवी को पूरे देश में ब्लैक आउट कर दिया गया है.

इस घटना के बाद जियो टीवी की वेबसाइट पर एक बयान जारी किया गया है जिसमें लिखा गया है कि पाकिस्तान के संविधान और कानून पाक के नागरिकों को जानकारी प्राप्त करने का मौलिक अधिकार प्रदान करते हैं. 2014 में रक्षा मंत्रालय ने पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया विनियामक प्राधिकरण (पेमरा) के संदर्भ में जियो टीवी के इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) के खिलाफ आरोपों के बारे में मंजूरी दे दी थी और नोटिस भेजा था। रक्षा सचिव लेफ्टिनेंट-जनरल (सेवानिवृत्त) आसिफ यासीन मलिक ने रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ के लिए एक मजबूत शब्द और कठोर संदर्भ भेजा था, जिन्होंने बाद में पेमरा को आगे भेजने के लिए इसे मंजूरी दी थी।

इस मामले पर जियो टीव के ट्विटर हैंडल पर अपील की गई है कि अगर आप टीवी नहीं देख पा रहे या दैनिक जंग आपको नहीं मिल रहा है तो आप शिकायत करें. शिकायत करने के लिए नंबर भी मुहैया कराया गया है. पाकिस्तान मीडिया रेगुलेटरी अथॉरिटी ने जियो टीवी के निलंबन को संज्ञान में लिया है और साफ किया है कि उसने न ही किसी चैनल के बंद करने का आदेश दिया है और न ही किसी के नंबर में बदलाव किया है. पूर्व में जियो टीवी और इसके मातृ संगठन जंग मीडिया ग्रुप को देश के मजबूत सेना व्यवस्था का करीबी माना जाता था. हाल के कुछ सालों में चैनल सेना के प्रति अत्यधिक आलोचनात्म हो गया है.

विश्लेषकों का कहना है कि जियो टीवी और सेना के बीच जो हालिया रस्साकशी है उसका मुख्य कारण जियो टीवी का नवाज शरीफ के प्रति समर्थन है. पूर्व प्रधानमंत्री शरीफ ने पिछले कुछ सालों में न्यायपालिका और सेना दोनों को चुनौती दी है.
पूर्व राष्ट्रपति जनरल (सेवानिवृत्त) परवेज मुशर्रफ के खिलाफ अपनी टिप्पणी के लिए आसिफ खुद कुछ दिनों पहले मुसीबत में थे। संदर्भ का आरोप है कि जिओ टीवी ने पेमरा द्वारा निर्धारित आचरण संहिता का उल्लंघन किया है, और चैनल के लाइसेंस के तत्काल निलंबन का प्रयास किया है। इस मामले में जांच की समाप्ति पर लाइसेंस रद्द करने की मांग की गई है।

सोशल मीडिया पर भी काफी गुस्सा ज़ाहिर किया जा रहा है ट्वीटर अकाउंट Imtiaz Alam @ImtiazAlamSAFMA ने कहा पाकिस्तान में GEO क्यों बंद किया जा रहा है? किसके द्वारा? किस कानून के अधिकार के तहत? जियो जंग समूह के वित्तीय नाकाबंदी के कारण हजारों पत्रकारों की मौत हो रही है। सुप्रीम कोर्ट कहां है और इसे सूमो मोटो नोटिस नहीं लेना चाहिए और पत्रकारों और अधिकार समुदाय को विरोध करना चाहिए।

द एक्सप्रेस द ट्रिब्यून द्वारा प्राप्त संदर्भ का पाठ निम्नलिखित है:

TOPPOPULARRECENT