Monday , December 18 2017

पाकिस्तान से अगला लायेहा‍ ए‍ अमल ( कार्यक्रम/course) पूछा जाएगा: हिंद

हिंदूस्तान अनक़रीब (जल्द) पाकिस्तान से दरयाफ्त करेगा कि वो क्या कार्रवाई करेगा जबकि वहां की एक अदालत ने रोलिंग दे दी है कि पाकिस्तानी जोडेशील कमीशन (Pakistani judicial commission) जिस ने मुंबई का दौरा किया, उस की तहकीकात गैरकानूनी है और 26/11 के मुलज़मीन (

हिंदूस्तान अनक़रीब (जल्द) पाकिस्तान से दरयाफ्त करेगा कि वो क्या कार्रवाई करेगा जबकि वहां की एक अदालत ने रोलिंग दे दी है कि पाकिस्तानी जोडेशील कमीशन (Pakistani judicial commission) जिस ने मुंबई का दौरा किया, उस की तहकीकात गैरकानूनी है और 26/11 के मुलज़मीन ( दोषी/ accused) के ख़िलाफ़ सुबूत के हिस्से के तौर पर पेश नहीं किए जा सकतें।

26/11 केस पर पाकिस्तानी अदालत की रोलिंग पर नाख़ुश नई दिल्ली में ये भी कहा कि कमीशन की जानिब से इकट्ठा करदा सुबूत शहादती क़दर (“evidential value”) रखता है ताकि इस मुल्क में अब तक के बदतरीन दहशत गिरदाना हमला ( आतंकवादी हमला/terrorist attack) में मुलव्वस लोगों को सज़ा दी जा सके।

मोतमिद दाख़िला (Home Secretary) आर के सिंह ने यहां अख़बारी नुमाइंदों ( पत्रकारों) को बताया कि हमारा इम्कान (विश्वास/belief) है कि इस कमीशन का जमा करदा सुबूत शहादत की क़दर (evidential value) रखता है। वो रावलपिंडी की अदालत की रोलिंग पर रद्द-ए-अमल ( प्रतिक्रिया/ जवाबी कार्यवाही) ज़ाहिर कर रहे थे जिस ने कमीशन की तहकीकात को गैरकानूनी क़रार दिया है

TOPPOPULARRECENT