Saturday , September 22 2018

पाकिस्तान से आर्थिक संबंध तोड़ सकता है भारत

नई दिल्ली। उड़ी आर्मी बेस पर आतंकी हमले के बाद भारत पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए कमर कस चुका है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने निवास पर कैबिनेट की बैठक ली और उसके बाद वे राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मिलने गए।
सूत्रों के हवाले से जानकारी सामने आ रही है कि पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए उससे आर्थिक संबंध तोड़ सकता है भारत। यही नहीं, पाकिस्तान के साथ भारत के कूटनीतिक रिश्ते भी तोड़े जा सकते हैं।

उड़ी आर्मी बेस पर रविवार तड़के हुए आतंकी हमले में भारतीय सेना के 18 जवान शहीद हो गए जबकि 25 जवान बुरी तरह घायल हो गए। सीमा पार से आए जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों के हमले के बाद पूरे देश में जबरदस्त गुस्सा है। यही कारण है कि सरकार भी जाग गई और उसने उड़ी हमले के बाद पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी रणनीति बना ली है।

यह भी संभव है कि उड़ी हमले का जवाब भारत हथियारों से भी दे सकता है। राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद सरकार सर्वदलीय बैठक बुला सकती है। भारत सरकार पाकिस्तान को दो मोर्चों पर जवाब देगी। पहला यह कि उड़ी हमले में आतंकियों के पास से मिले पाकिस्तानी सबूतों के आधार पर संयुक्त राष्ट्र में मामला उठाया जाए और दूसरा यह कि आतंकियों के खिलाफ ग्राउंड लेवल पर ऑपरेशन शुरू किया जाए।

TOPPOPULARRECENT