Wednesday , November 22 2017
Home / Neighbours / पाक में पत्रकारों की हालत पर अमेरिका फ़िक्रमंद

पाक में पत्रकारों की हालत पर अमेरिका फ़िक्रमंद

वॉशिंगटन : अमेरिका ने पाकिस्तान में पत्रकारों द्वारा कठिनाइयों और खतरों का सामना किए जाने पर चिंता जाहिर की, लेकिन उस पाकिस्तानी पत्रकार पर लगाए गए यात्रा प्रतिबंध पर कोई टिप्पणी नहीं की है जिसने असैन्य और सैन्य नेतृत्व के बीच दरार के संबंध में खबर दी थी। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा कि मुझे सिरिल अल्मीडा पर लगाए गए यात्रा प्रतिबंधों की जानकारी है। उन्होंने कहा कि प्रेस की स्वतंत्रता स्पष्ट रूप से वह मुद्दा है जो हम पाकिस्तान की सरकार के समक्ष नियमित उठाते रहे हैं, साथ ही पत्रकारों द्वारा कठिनाइयों और खतरों का सामना किए जाने पर भी अपनी चिंता जाहिर करते रहे हैं।

किर्बी ने कहा कि हम प्रेस की स्वतंत्रता को या अत्यंत महत्वपूर्ण काम करने के लिए पत्रकारों की क्षमता को सीमित करने के सभी प्रयासों को लेकर चिंतित हैं। इस बीच, कमेटी टू प्रोटेक्ट जर्नलिस्ट (सीपीजे) ने पाकिस्तान से अल्मीडा पर लगाए गए यात्रा प्रतिबंध को तत्काल हटाने का अनुरोध किया है। सीपीजे के एशिया प्रोग्राम समन्वयक स्टीवेन बटलर ने कहा कि प्रेस की खबरों को लेकर नाखुशी का, पत्रकार की स्वतंत्रता बाधित करने के बहाने के तौर पर कभी उपयोग नहीं किया जाना चाहिए। प्रमुख पाकिस्तानी पत्रकार अल्मीडा ने हक्कानी नेटवर्क और लश्कर ए तैयबा जैसे आतंकी समूहों का शक्तिशाली खुफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा बचाव किए जाने की खबर दी थी। खबर में कहा गया था कि आईएसआई के इस कृत्य की वजह से पाकिस्तान असैन्य और सैन्य नेतृत्व के बीच दरार आ गई है और देश अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी अलग थलग पड़ गया है। इस खबर की वजह से अल्मीडा पर पाकिस्तान से बाहर जाने पर रोक लगा दी गई है।

TOPPOPULARRECENT