Thursday , September 20 2018

पानी के लिए जंग होगी : किरण कुमार

कांग्रेस राबिता कमेटी का दिल्ली में गरमागरम मीटिंग मुनाक़िद हुवी । चीफ मिनिस्टर ने रियासत की तक़सीम की फिर एक बार मुख़ालिफ़त करते हुए कहा कि अवामी मर्ज़ी के ख़िलाफ़ किए जाने वाले फैसले में वो हिस्सादार बनने तैयार नहीं है।

कांग्रेस राबिता कमेटी का दिल्ली में गरमागरम मीटिंग मुनाक़िद हुवी । चीफ मिनिस्टर ने रियासत की तक़सीम की फिर एक बार मुख़ालिफ़त करते हुए कहा कि अवामी मर्ज़ी के ख़िलाफ़ किए जाने वाले फैसले में वो हिस्सादार बनने तैयार नहीं है।

मर्कज़ी वज़ीर चिरंजीवी ने हैदराबाद के एच्च एम डी ए इलाके को मुस्तक़िल तौर पर मर्कज़ का ज़ेर इंतेज़ाम इलाक़ा बनाने का मुतालिबा किया।

डिप्टी चीफ मिनिस्टर दामोधर राज नरसिम्हा ने चीफ मिनिस्टर और चिरंजीवी के ख़दशात को मुस्तर्द करदिया। अनटोनी कमेटी की तरफ से रियासत की तक़सीम के बाद अलाहिदा तेलंगाना पर ज़ाहिर किए जाने वाले इमकानी अनदेशों पर एतेराज़ किया और दरमियान में मीटिंग से उठ कर चले गए।

कांग्रेस के जनरल सेक्रेटरी-ओ-इंचार्ज आंध्र प्रदेश कांग्रेस उमूर दिग्विजय सिंह ने कहा कि सी डब्ल्यू सी का फैसला क़तई है और तमाम क़ाइदीन उसको कुबूल करें।

रियासत की तक़सीम का जायज़ा लेने और चीफ मिनिस्टर को राज़ी कराने दिग्विजय सिंह ने दिल्ली में राबिता कमेटी कि मीटिंग तलब किया था जिस में चीफ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी डिप्टी चीफ मिनिस्टर दामोधर राज नरसिम्हा सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी बोतसा सत्य नाराय‌ना मर्कज़ी वज़ीर सयाहत चिरंजीवी के अलावा दूसरों ने शिरकत की।

देढ़ घंटे तक मीटिंग जारी रहा। बावसक़ से पता चला है कि मीटिंग में चीफ मिनिस्टर और डिप्टी चीफ मिनिस्टर के दरमियान ज़बरदस्त लफ़्ज़ी झड़प होगई।

चिरंजीवी और बोतसा सत्य नाराय‌ना ने रियासत को मुत्तहिद रखने पर ज़ोर दिया। डिगवजय सिंह ने दरमियान में मुदाख़िलत करते हुए कहा कि रियासत को तक़सीम करने का फैसला होचुका है।

इतना आगे बढ़ने के बाद पीछे हटना मुश्किल है। पार्टी के फैसले को कुबूल करना तमाम क़ाइदीन की ज़िम्मेदारी है।

चीफ मिनिस्टर ने कहा कि जुग़राफ़ियाई सतह पर रियासत की तक़सीम मुम्किन नहीं है। नदियों की तक़सीम आसान नहीं है। पानी के मसले पर दोनों इलाक़ों में जंग होसकती है।

रियासत के अवाम की अक्सरियत तक़सीम के ख़िलाफ़ है। तक़सीम से सीमांध्र में जहां कांग्रेस को बहुत बड़ा नुक़्सान होगा वहीं तेलंगाना में भी कोई ख़ास फ़ायदा नहीं होगा।

चिरंजीवी ने कहा कि सीमांध्र में 100 दिन से रियासत की तक़सीम के ख़िलाफ़ एहतेजाज किया जा रहा है । हम सब रियासत की तक़सीम के ख़िलाफ़ हैं।

हैदराबाद के इलाक़े एच्च एम डी ए को मुस्तक़िल तौर पर मर्कज़ का ज़ेर इंतेज़ाम इलाक़ा क़रार देने की सूरत में ही सीमांध्र अवाम की थोड़ी बहुत ताईद हासिल होसकती है वर्ना हैदराबाद में सीमांध्र का तहफ़्फ़ुज़ ख़तरे में पड़ सकता है।

इस के अलावा हैदराबाद में जिन इदारों और कंपनियों को ज़मीनात मुख़तस की गई है अलाहिदा तेलंगाना रियासत तक़सीम होने के बाद इस में किसी किस्म की नज़र-ए-सानी ना होने का तेलंगाना के बिल में तज़किरा करने पर ज़ोर दिया गया है जिस की मीटिंग में मौजूद डिप्टी चीफ मिनिस्टर दामोधर राज नरसिम्हा ने सख़्त मुख़ालिफ़त की।

इस के अलावा हैदराबाद की आमदनी में 60 फ़ीसद हिस्सा सीमांध्र की तरक़्क़ी के लिए ख़र्च करने पर ज़ोर दिया गया। डिप्टी चीफ मिनिस्टर ने एतेराज़ करते हुए कहा कि अगर इन सब पर अमल किया गया तो अलाहिदा तेलंगाना रियासत की तशकील बे फ़ैज़ है।

तेलंगाना के अवाम को कोई फ़ायदा नहीं होगा। सीमांध्र को भारी पैकेज देने के अलावा हैदराबाद की आमदनी में हिस्सादार बनाना तेलंगाना अवाम से नाइंसाफ़ी करने के बराबर होगा।

रही बात सीमा आंधरा अवाम की हैदराबाद की सेकोरेटी की क्या तलंगाना के दूसरे इलाक़ा में सीमा आंधरा के अवाम नहीं हैं । हैदराबाद में गुजराती , मारवाड़ी , बंगाली के इलावा दूसरे इलाक़ों के अवाम और ताजरेन मौजूद हैं । जब उन्हें कोई ख़तरा नहीं है तो सीमा आंधरा वालों को क्यों ख़दशात हैं। क़ानून अपना काम करेगा । इजलास ख़त्म होने से क़बल डिप्टी चीफ मिनिस्टर इजलास से वापिस होगए। इस के थोड़ी देर बाद सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी भी रवाना होगए। ज़राए से पता चला कि डग वजए सिंह ने अनटोनी कमेटी की जानिब से तय्यार करदा रिपोर्ट पर चीफ मिनिस्टर से भी तबादला ख़्याल करते हुए उन से मज़ीद तजावीज़ तलब की हैं और सीमा आंधरा से मुकम्मल इंसाफ़ करने का तीक़न दिया है और पार्टी के फैसले को क़बूल करने का मश्वरा दिया है। चीफ मिनिस्टर ने ओहदा से ज़्यादा रियासत के मुफ़ादात को तरजीह देने का इज़हार किया है। इजलास के बाद सिवाए डग वजए सिंह के किसी ने भी मीडिया से बात करने से इनकार करदिया। दिग्विजय सिंह ने कहा कि सी डब्ल्यू सी के फैसले को तमाम क़ाइदीन क़बूल करेंगे।

मीटिंग में पार्टी को तनज़ीमी सतह पर मुस्तहकम करने और इंतेख़ाबी तैयारीयों का जायज़ा लिया गया राबिता कमेटी का आइन्दा मीटिंग आइन्दा माह दिसमबर के दूसरे हफ़्ते में हैदराबाद में मुनाक़िद होगा।

उन्होंने कहा कि सी डब्ल्यू सी के फैसले के मुताबिक़ रियासत की तक़सीम का अमल जारी है। अनटोनी कमेटी अपनी रिपोर्ट पार्टी सदर सोनिया गांधी को पेश करेगी। ये रिपोर्ट ग्रुप आफ़ मिनिस्टर्स को पेश करने के मुआमले में सोनिया गांधी फैसला करेंगी।

TOPPOPULARRECENT