Sunday , December 17 2017

पार्लियामेंट सेशन: नारे लगना देशद्रोही की श्रेणी में नही: सिंधिया

Z(4)

नई दिल्ली। संसद सत्र के पहले दिन की शुरुआत हंगामे के साथ हुआ। मायावती ने रोहित वेमुला सुसाइड केस को उठाया। उन्होंने कहा कि दलित छात्रों का उत्पीड़न किया जा रहा है। सरकार RSS के विचार थोपने की कोशिश कर रही है…। इधर कांग्रस ने जेएनयू मामले पर लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव दिया है। कांग्रेस का कहना है कि जिस तरह से जेएनयू को निशाना बनाया जा रहा है वो ठीक नहीं है। संसद में जेडीयू और लेफ्ट पार्टियों ने भी विरोध किया है। दोनों पार्टी के सांसदों ने संसद परिसर में नारेबाजी की है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा सरकार युवाओं के आवाज को दबा रही है।

नारे लगाना देशद्रोही की श्रेणी में नहीं आता।
रोहित ने अपने विचारों को सामाने रखा था।
जेएनयू को बंद करने की कोशिश हो रही है।
रोहित वेमुला पर दबाव डाला गया।
जेएनयू छात्रों ने भगवा आतंकवाद का मुद्दा उठाया था।

TOPPOPULARRECENT