Saturday , December 16 2017

पार्षदों ने मेयर से इस्तीफा मांगा, पीए बरखास्त

जुमेरात को हुई रांची मुंसिपल कॉर्पोरेशन बोर्ड की बैठक हंगामेदार रही। वार्ड नं 25 के पार्षद मो असलम ने मेयर के पीए कुलेश्वर साहु की तरफ से ठेकेदार उज्ज्वल से टेंडर दिलाने के नाम पर घूस की मांग करने का इल्ज़ाम लगाया। दोनों की बातचीत क

जुमेरात को हुई रांची मुंसिपल कॉर्पोरेशन बोर्ड की बैठक हंगामेदार रही। वार्ड नं 25 के पार्षद मो असलम ने मेयर के पीए कुलेश्वर साहु की तरफ से ठेकेदार उज्ज्वल से टेंडर दिलाने के नाम पर घूस की मांग करने का इल्ज़ाम लगाया। दोनों की बातचीत की रिकॉर्डिंग माइक ऑन कर सभी पार्षदों को सुनायी गयी।

सीडी में मेयर के पीए की तरफ से ठेकेदार को बार बार मिलने के लिए कहा जा रहा था। लेकिन ठेकेदार यह कह रहा था कि उसने 45 हजार तो दे दिये हैं और कितना देना पड़ेगा। पार्षदों ने कहा कि मेयर का पीए बिना उनकी इजाजत के किसी ठेकेदार से रकम नहीं मांग सकता। इस मामले में मेयर की किरदार भी मशकूक है।

मामले की जांच हो, जब तक जांच रिपोर्ट नहीं आ जाती तब तक मेयर की सदारत में कोई बैठक न हो। पार्षदों की इस मांग पर मेयर ने कहा कि सीडी में सुनाई दे रहा आवाज उसके पीए कुलेश्वर की है। इसलिए इस मामले में वह अपने पीए को बरखास्त करती हैं। मेयर के इस जवाब पर पार्षद मुतमइन नहीं हुए। पार्षदों ने एक आवाज में मेयर के इस्तीफे की मांग की। मेयर ने इस्तीफा देने से इनकार करते हुए मामले की जांच कराने की बात कही। उन्होंने कहा कि अगर उनका पीए मुजरिम होगा तो उस पर भी कानूनी कार्रवाई होगी। मेयर के परपोजल से पार्षद फिर भी मुतमइन नहीं हुए। कॉर्पोरेशन की टेंडर कमेटी में पांच पार्षदों को शामिल किये जाने के बाद पार्षद पुरअमन हुए।

इसके पहले बैठक शुरू होते ही पार्षदों ने सवाल उठाया कि मेयर आशा लकड़ा मुंसिपल कॉर्पोरेशन पर अजारादारी करना चाहती है। अफसरों मुलाजिमों के साथ बैठक तो करती हैं लेकिन उसकी कोई जानकारी पार्षदों को नहीं देतीं। यह गलत है। इस पर मेयर ने कहा कि अगर पार्षदों को इन बातों से किसी तरह की कोई परेशानी है तो वह इत्तिलाअत सभी से साझा करेंगी। बैठक में डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय, शहर कमिश्नर प्रशांत कुमार, ओमप्रकाश, डिप्टी सीइओ ज्ञानेंद्र कुमार, राजेश कुमार, रामकृष्ण कुमार, चीफ इंजीनियर सुरेश पासवान वगैरह मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT