Friday , December 15 2017

पीने के पानी और आबपाशी प्रोजेक्ट्स को अव्वलीन तर्जीह

करीमनगर 27 जनवरी: देही अवाम के मियारे ज़िंदगी में बेहतरी-ओ-ख़ुशहाली के मक़सद से शुरू करदा तरक़्क़ीयाती प्रोग्राम्स पर ज़्यादा तवज्जा दी जा रही है। इस सिलसिले में गरामा ज्योति प्रोग्राम शुरू किया गया है।

स्वच्छ भारत प्रोग्राम के लिए 169.35 करोड़ रुपये के सर्फ़ा से 1.41 लाख बैत उल-ख़लाओं की तामीर की मंज़ूरी दी गई। यहां पुलिस परेड ग्रांऊड पर मुनाक़िदा यौम जमहूरीया तक़रीब के दौरान क़ौमी पर्चम लहराते हुए ज़िला कलेक्टर नीतू प्रसाद ने ख़िताब करते हुए इन ख़्यालात का इज़हार किया।

उन्होंने कहा कि सिरिसिल्ला असेंबली हलक़ा में 12,711 इन्फ़िरादी बैत उल-ख़ला तामीर करके रियासत भर में सर-ए-फ़हरिस्त मुक़ाम हासिल हुआ है। मुस्तहिक़ अफ़राद में 448 एकड़ अराज़ी तक़सीम की गई, मज़ीद पाँच सौ एकड़ अराज़ी तक़सीम की जाएगी। ज़िला में 5200 डबल बेडरूम मकानात की मंज़ूरी अमल में आई, हर घर को नल कनेक्शन के इक़दामात किए जा रहे हैं। पानी की क़िल्लत दूर करने के लिए 65 करोड़ रुपये मंज़ूर किए गए।

TOPPOPULARRECENT