पीर महबूब बख्श चिश्ती का 55वां उर्स : बहारों फूल बरसाओ मेरे सरकार तशरीफ़ लाएं हैं

पीर महबूब बख्श चिश्ती का 55वां उर्स : बहारों फूल बरसाओ मेरे सरकार तशरीफ़ लाएं हैं

बीकानेर : हज़रत पीर महबूब बख्श चिश्ती ( रह0) के 55वें उर्स मुबारक पर मोहल्ला चूनगरान में महफिले कव्वाली का आयोजन किया गया, जिसमें जयपुर के कव्वाल अख्तर अमजद जियाई ने चिश्ती बाबा की शान में रूहानी कलाम से जायरीन को भाव विभोर कर दिया। सज्जादानशीन पीर गुलाम अल्लाह बख्श चिश्ती की सदारत में आयोजित महफ़िल में पीर हाफिजुल्लाह चिश्ती, पीरजादा मुहम्मद सलीम चिश्ती शामिल थे।

कव्वाल पार्टी ने कार्यक्रम का प्रारंभ हम्द से किया। कव्वालों ने हजरत मुहम्मद साहब (सल्ल0) की शान में नात ” बहारों फूल बरसाओ मेरे सरकार तशरीफ़ लाएं हैं” सुनाकर भाव विभोर कर दिया। अनेक फिल्मों, राष्ट्रीय कार्यक्रमों में धूम मचाने वाले कव्वालों ने ख्वाजा गरीब नवाज (रह0) की शान में कलाम पेश किया। कव्वालों ने चिश्ती बाबा की शान में ” निगाहें जिस तरफ उठीं उधर नूरे खुदा देखा” पेश कर महफ़िल को मंत्र मुग्ध कर दिया।

उर्स के अवसर पर चिश्ती बाबा के मजार पर कुरान का पाठ जारी है। शाम को कव्वाली के साथ चादर के जुलुस निकले। इस अवसर पर न्यू मोहल्ला विकास समिति मदार का चौक द्वारा पुरानी तेलीवाड़ा स्कूल में लंगर का आयोजन किया गया जिसमें जावेद अख्तर, मोहम्मद शाकिर, मुहम्मद शब्बीर, नोशाद अली ने सेवाएं प्रदान की।

शनिवार की शाम चद्दर जलूस तथा मोहल्ला चूनगरान, मदार चौक, तेलीवाड़ा स्कूल के पास लंगर के आयोजन होंगे। रात्रि में सीकर के मौलाना सैय्यद सोहैल हुसैन चिश्ती आफाकी, बरेली उ0प्र0 के मौलाना इनतजार हुसैन ग़ज़ाली की तक़रीर होगी।

Top Stories