Monday , December 11 2017

पुणे पुलिस ने नहीं दी “ओवैसी” को रैली करने की अनुमति

पुणे पुलिस ने एआईएम्आईएम् प्रमुख और सांसद असदुद्दीन ओवैसी को 21 फरवरी को होने वाले नगर निगम के चुनावो से पहले, पुणे शहर के एक वार्ड में सार्वजनिक रैली करने से रोक लगा दी है|खड़क पुलिस स्टेशन ने यह कहते हुए ओवैसी की रैली पर रोक लगायी की, यह इलाका बहुत संवदेनशील है क्योंकि यहाँ पर हर तरीके के समुदाय के लोग रहते है और जैसे की ओवीसी अपने ‘उकसाने’ वाले और सांप्रदायिक बयानों के लिए जाने जाते है तो इससे उनकी जान को खतरा हो सकता है|

एआईएम्आईएम् ने पुणे नगर निगम चुनावो(पीएमसी) में अपने २५ प्रत्याशी खड़े करे है| “कानून और व्यवस्था की स्थिति को देखते हुए, रैली को स्वीकृति नहीं दी जा सकती,” खड़क पुलिस द्वारा पार्टी को जारी एक पात्र में यह बात कही गई|

पार्टी की शहरी इकाई ने ‘सेवन लव्स चौक’ पर 14 फरवरी के दिन रैली करने की अनुमति मांगी थी|

“कल हमें खड़क पुलिस द्वारा भेजा गया एक पत्र मिला, जिसमें पुलिस ने सूचित किया की हमें रैली करने की अनुमति नहीं है,” पार्टी  के शहरी इकाई के प्रमुख अंजुम इनामदार ने बताया|

उन्होंने ने कहा की पुलिस “पक्षपात” कर रही है और यह साफ़ तोर पर अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के उल्लंघन का मामला है|

यह वही स्थान है जहाँ पिछले महीने ही कांग्रेस के राज्यअध्यक्ष और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्य मंत्री अशोक चव्हाण ने अपनी रैली की थी, मगर उनकी रैली पर कोई आपत्ति नहीं की गयी, इनामदार ने बताया|

वंही खड़क पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक रघुनाथ जाधव ने बताया की रैली का स्थान बहुत घनी आबादी वाला है जहाँ मुश्किल से 500 लोगो के जमा होने की भी जगह नहीं है|

“जैसा की रैली में 10,000 से ज्यादा लोगो के आने की सम्भावना है, जिससे कानून और व्यवस्था को सँभालने की स्थिति उत्पन हो सकती है, इसलिए  हमनें उन्हें बड़ी जगह को देखने  के लिए कहा है  जहाँ ज्यादा लोग आ  सके ,” जादव  ने बताया|

इनामदार ने बताया की वह पुणे पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियो  से जल्दी  ही मिलेंगें और साथ ही नए स्थान की खोज भी चल रही है|

उन्होंने ने बताया की ” हम नए स्थान की तलाश कर रहे है परंतु एक बात पक्की है की रैली 14 फरवरी को ही होगी| “इसी बीच, ओवैसी, ने एक ट्वीट में कहा की, दो साल पहले मैंने एक सार्वजानिक बैठक करी थी और वह कामयाब रही थी… और अब अचानक मुझे रोका जा रहा है, जो सही नहीं है|”

ओवैसी ने पुलिस से आग्रह किया की उन्हें इसकी अनुमति दे दी जाये|
“@PuneCityPolice अनुमति दीजिये, शर्तो को लगाइये और अगर में इनका उल्लंघन करूँ तो मुझे गिरफ्तार कीजिये…मैं आपके द्वारा दी गई सुरक्षा को नहीं लूंगा,” ओवैसी ने दूसरे ट्वीट में यह बात कही |

TOPPOPULARRECENT