पुणे में कश्मीरी पत्रकार की पिटाई, हमलावरों को पुलिस ने गिरफ्तार किया

पुणे में कश्मीरी पत्रकार की पिटाई, हमलावरों को पुलिस ने गिरफ्तार किया

पुलवामा आतंकी हमले के बाद देश के विभिन्न हिस्सों में कश्मीरियों पर हो रहे हमले की एक और घटना के तहत 24 वर्षीय एक कश्मीरी पत्रकार की पुणे में पिटाई की गई. पुलिस ने इस मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. शुरुआत में इस घटना को ‘रोड रेज’ बताने वाली स्थानीय पुलिस ने दो संदिग्ध हमलावरों के खिलाफ शुक्रवार को एक मामला दर्ज किया. इस सिलसिले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार भी किया गया है.

पुलिस ने बताया कि ट्रैफिक सिग्नल पर हुई कहा सुनी के दौरान दोनों लोगों ने बृहस्पतिवार रात पत्रकार की पिटाई की. पुणे में एक अखबार में काम करने वाले जिबरान नजीर ने कहा कि हमलावरों ने उनसे कहा कि वे उन्हें वापस कश्मीर भेज देंगे. हालांकि, नजीर ने कहा कि यह कोई संगठित हमला नहीं था. नजीर के मुताबिक तिलक रोड पर रात करीब पौने ग्यारह बजे उन पर यह हमला किया गया जब वह मोटरसाइकिल से घर लौट रहे थे. उन्होंने बताया कि हमलावरों ने पुलिस थाना में बाद में उनसे माफी भी मांगी.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि यह रोड रेज की एक घटना थी और यह पुलवामा हमले से संबद्ध नहीं है. गौरतलब है कि इस घटना के एक दिन पहले ही यवतमाल के एक कॉलेज में पढ़ाई करने वाले कश्मीरी छात्रों पर बुधवार को हमला हुआ था. यह हमला शिव सेना की युवा शाखा युवा सेना के सदस्यों ने कथित तौर पर किया था.

नजीर ने बताया कि उन्होंने मामले को आगे बढ़ाने का फैसला नहीं किया था और पुलिस शिकायत वापस ले ली. बाद में शुक्रवार शाम पुणे पुलिस ने खुद से दोनों संदिग्धों- अजहरूद्दीन शेख (32) और दत्तात्रेय लावते (35) के खिलाफ एक मामला दर्ज किया. वरिष्ठ निरीक्षक अशोक कदम ने बताया कि शेख को गिरफ्तार कर लिया गया जबकि लावते की तलाश जारी है.

Top Stories