Monday , December 11 2017

पुने में हज़ारे के ग़लत ईलाज के इल्ज़ामात मुस्तर्द

नई दिल्ली, ‍०१ फरवरी: जनवरी (पी टी आई) अन्नाहज़ारे का पूने में दानिस्ता तौर पर ग़लत ईलाज किए जाने के इल्ज़ामात पर पैदा शूदा तनाज़ा के दरमयान उन्हों ने आज कहा कि वो नहीं समझते कि सानचीटी हॉस्पिटल के डाक्टरों ने ग़लत अरादरों के तहत उन्हें

नई दिल्ली, ‍०१ फरवरी: जनवरी (पी टी आई) अन्नाहज़ारे का पूने में दानिस्ता तौर पर ग़लत ईलाज किए जाने के इल्ज़ामात पर पैदा शूदा तनाज़ा के दरमयान उन्हों ने आज कहा कि वो नहीं समझते कि सानचीटी हॉस्पिटल के डाक्टरों ने ग़लत अरादरों के तहत उन्हें दवा दी थी।

हज़ारे ने ये रिमार्क उस वक़्त किया जब योगा गुरु राम देव ने इल्ज़ाम आइद किया था कि इन (हज़ारे) की हालत बेहतर नहीं हो रही है क्योंकि उन्हें ग़लत दवाएं दी जा रही हैं। टीम अन्ना के ज़राए ने एतवार को ये इल्ज़ाम भी आइद किया था कि उन्हें ज़रूरत से ज़्यादा ऐन्टी बयोटिक्स और ख़ाबआवर अदवियात दिए गए थे, जिस के बाद वो पूने से ज़रीया तैयारा नई दिल्ली रवाना हो गए थे, जहां मैदानता मेडि सिटी में उन के कई तिब्बी मुआइने किए गए थे और ईलाज जारी है।

74 साला हज़ारे को शशस का आरिज़ा लाहक़ है। मुंबई के एक हॉस्पिटल में बाद मुआइना कहा गया था कि वो बराइनीकोईटस से मुतास्सिर हैं। उन्हें 8 जनवरी को हॉस्पिटल से डिस्चार्ज किया गया था। हज़ारे ने दिसम्बर में ब्रत के बाद इन का ईलाज करने वाले डाक्टर कान्ती लाल सानचीटी की दिफ़ा करते हुए कहा कि वो इस फिज़ीशीयन को गुज़शता 25 साल से जानते हैं और वो उन पर आइद किए जाने वाले इल्ज़ामात से इत्तेफ़ाक़ नहीं करते।

हज़ारे ने कहा कि ये कहा जा रहा है कि मुझे बाअज़ दवा का ओवर डोज़ दिया गया और दीगर चंद अदवियात जो दी गई थीं मुझे उन की ज़रूरत नहीं थी लेकिन मैं नहीं समझता कि ये सब ग़लत इरादों के तहत किया गया था बल्कि मुम्किन है कि मेरे जिस्म ने इन अदवियात को क़बूल नहीं किया होगा। हज़ारे ने मज़ीद कहा कि डाक्टर सानचीटी पदमा विभूण एवार्ड याफ़ता हैं लेकिन इस एज़ाज़ को उन की सेहत से वाबस्ता नहीं करना चाहीए। उन्हें उन की 40 साला ख़िदमात पर ये एज़ाज़ दिया गया है और में उन्हें मुबारकबाद पेश करता हूँ।

टीम अना के एक रुकन अरविंद केजरीवाल ने भी डाक्टर सानचीटी पर आइद किए जाने वाले इल्ज़ामात को मुस्तर्द कर दिया है।

TOPPOPULARRECENT