पुराने नोट नहीं बदल पाने से नाराज़ खुद को आग लगाने वाली महिला मजदूर की मौत

पुराने  नोट नहीं बदल पाने से नाराज़ खुद को आग लगाने वाली महिला मजदूर की मौत
Click for full image

अलीगढ़(उप्र) : नई दिल्ली के एक अस्पताल में पुराने  नोट नहीं बदल पाने से नाराज़ होकर खुद को आग लगाने वाली एक महिला मजदूर की मौत हो गयी |

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में दिल्ली गेट इलाके के शाहजमाल क्षेत्र की रहने वाली रज़िया दिहाड़ी मजदूरी करके अपना घर चलाती थी | नोटबंदी के फ़ैसले के बाद उसके पुराने करेंसी नोट नहीं नहीं बदले जा रहे थे | परिवार के सूत्रों के मुताबिक घर में भुखमरी के हालात हो गये थे | इस सबसे नाराज़ रज़िया(45) ने 20 नवम्बर को खुद को आग लगा ली | जिसके बाद 4 दिसंबर  को दिल्ली में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी| रज़िया का पति अकबर भी मजदूरी करता है उसका बड़ा बेटा अयान बमुश्किल नौ साल का है|

रजिया ने जिला अस्पताल में संवाददाताओं को बताया था कि उसने ये क़दम इसलिए उठाया है उसे किसी भी बैंक से रुपए बदलकर नहीं मिल पा रहे हैं|  उसके चारों बच्चे पिछले तीन दिन से भूखे हैं और उससे ये हालात देखे नहीं जा रहे है|
परिवार की आर्थिक बदहाली के मद्देनजर रजिया के परिजन पर्याप्त मुआवजे की मांग कर रहे हैं| आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक रजिया को सुपुर्द-ए-खाक, जिले के वरिष्ठ अधिकारियों तथा सपा के जिलाध्यक्ष बाबा फरीद द्वारा आर्थिक मदद का आश्वासन दिए जाने के बाद किया गया |

 

 

Top Stories