Thursday , December 14 2017

पुराने शहर में गुंडा अनासिर की सरगर्मीयां उरूज पर

हैदराबाद ०‍‍‍‍५अगस्त (सियासत न्यूज़) पुराने शहर में गुंडा गर्दी और शरपसंद अनासिर की ग़ैर समाजी सरगर्मीयां इन दिनों उरूज पर हैं और ऐसा लगता हीका इन गुंडा अनासिर की सरगर्मीयों को रोकने में पुलिस भी सयासी दबाव‌ के आगे मजबूर है बल्क

हैदराबाद ०‍‍‍‍५अगस्त (सियासत न्यूज़) पुराने शहर में गुंडा गर्दी और शरपसंद अनासिर की ग़ैर समाजी सरगर्मीयां इन दिनों उरूज पर हैं और ऐसा लगता हीका इन गुंडा अनासिर की सरगर्मीयों को रोकने में पुलिस भी सयासी दबाव‌ के आगे मजबूर है बल्कि बेगुनाह अफ़राद के ख़िलाफ़ पुलिस का ज़ोर चलाने का के पुलिस पर इल्ज़ामात पाए जाते हैं।

ये गुंडाअनासिर मामूल और इलाक़ा में बरतरी केलिए किस हद तक भी जा सकते हैं। ऐसा ही एकवाक़िया पुराने शहर के इलाक़ा फ़लक नुमा अंसारी रोड पर पेश आया, जहां एक मुफ़्ती के रिश्तेदार की बस को गुंडा अनासिर ने जिला कर ख़ाकसतर करदिया। बताया जाता है नायब मुफ़्ती जामिआ निज़ामीया मुफ़्ती क़ासिम सिद्दीक़ी तसख़ीर के बरादर-ए-निसबती इबराहीमख़ां की बस को महिज़ मामूल ना देने की सूरत में जिला दिया गया।

इस से क़बल उन्हें तरह तरह से परेशान भी किया गया। इबराहीम ख़ां की एक बस को कल रात सह्र से क़बलनज़र-ए-आतिश किया गया। बस उस वक़्त इबराहीम ख़ां के गयारीज वाक़्य अंसारी रोड तीगल कनटा में रखी हुई थी। सितम ज़रीफ़ी ये कि जिन अफ़राद पर इबराहीम ख़ां ने शुबाज़ाहिर किया है उन को पुलिस ने पहले तो हिरासत में ले लिया, लेकिन बाद में उन्हें कुछ देर बाद रिहा करदिया।

बावसूक़ ज़राए के मुताबिक़ जैसे ही पुलिस ने दो मुक़ामी ग़ुंडों को हिरासत में लिया, इन ग़ुंडों के सयासी आक़ाओ ने पुलिस पर दबाव्डाअलना शुरू करदिया ताकि इन दोनों ग़ुंडों की रिहाई अमल में लाई जा सकी। साथ ही इबराहीम ख़ां जिन्हों ने पुलिस में शिकायत की ही, उन पर भी सयासी दबाव‌ बढ़ने लगा है और उन्हें तरह तरह के फ़ोन कालिस वसूल हो रहे हैं जिस में कभी बड़ा लीडर तो कभी छोटा लीडर उन्हें धमकीयां दे रहा है कि वो फ़ौरी अपनी शिकायत वापिस ले लें वर्ना संगीन नताइज का सामना करना पड़ेगा। इस ख़सूस में फ़लक नुमा पुलिस का कहना कुछ और ही ही। पुलिस का ब्यान और उसकी कार्रवाई सयासी दबाव‌ मैं मज़लूमीन से नाइंसाफ़ी के मुतरादिफ़ दिखाई दे रहा ही। इन्सपैक्टर फ़लक नुमा पुलिस स्टेशन मिस्टर हुसैनी नायडू ने बताया कि रात तक़रीबन ढाई बजे अंसारी रोड पर एक बस जलकर ख़ाकसतर होगई। उन्हों ने बताया कि शिकायत गुज़ारइबराहीम ख़ां ने अपनी शिकायत में दो अफ़राद पर इल्ज़ाम लगाया ही। पुलिस को इन दो अफ़राद पर शुबा ही। उन्हों ने बताया कि ढाई बजे शब जब पुलिस को इत्तिला मिली कि अंसारी रोड पर बस जल रही है तब पुलिस ने फ़ौरी फ़ायर इंजन को तलब किया और आग पर क़ाबू पा लिया। उन्हों ने बताया कि पुलिस ने मुक़द्दमा दर्ज करलिया है और मसरूफ़तहक़ीक़ात ही। मुक़ामी ज़राए के मुताबिक़ शाह अली बंडा के साकन इबराहीम ख़ां का अंसारी रोड फ़लक नुमा में गयारीज है और वो अपनी बस को गयारीज के बाहर रखते हैं।गुज़शता चंद रोज़ से दो मुक़ामी अफ़राद जो एक सयासी जमात से ताल्लुक़ रखते हैं, इन से मुतालिबा कररहे थे कि गाड़ी हटादी जाई, जिस की वजह से ट्रैफ़िक का मसला बढ़ गया ही।

ताहम ऐसा ना होने की सूरत में इन दोनों ने ट्रैफ़िक पुलिस और ला ऐंड आर्डर पुलिस के ज़रीया इबराहीम ख़ां पर दबाव‌ डाला और उन्हें तरह तरह से हिरासाँ कर रहे थे और इबराहीम को इस बात की पेशकश की गई थी कि वो उन से बातचीत के लिए आएं। ताहम ट्रैफ़िक पुलिस की हिदायत पर इबराहीम ख़ां अपनी बस को रात देर गए इलाक़ा में लाए और सुबह निकाल दिये। बावसूक़ ज़राए के मुताबिक़ इन दो मुक़ामी ग़ुंडों ने इस इलाक़ा के बहुत सारे शहरीयों को परेशान कर रखा है और उन से मामूल भी वसूल करते हैं।

अगर कोई उन कीमर्ज़ी के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाता है तो फिर उस को मज़ीद मुश्किलात में डाल दिया जाता है और इस इलाक़ा की अवाम इन दोनों ग़ुंडों की शरपसंदी से बदज़न हो गए हैं। अफ़सोस कि इन के ख़िलाफ़ शिकायत पर कार्रवाई भी नहीं होती चूँकि लोकल लीडरों की उन्हें सरपरस्ती हासिल है और पुलिस भी मौक़ा को ग़नीमत जान कर उन के ख़िलाफ़ कार्रवाई नहीं करती और उन ही तवानाई और कोशिश ग़रीब-ओ-मज़लूम अवाम पर सिर्फ करती हैं।

पुराने शहर में ऐसी हरकत कोई नई बात नहीं जिस से ज़ाहिर होता है कि इस इलाक़ा में अमन-ओ-ज़बत की सूरत-ए-हाल किस हद तक पहूंच गई है और इंसाफ़ का हुसूल किस क़दर मुश्किल हो गया है। पुलिस के आला ओहदेदारों और हुकूमत को चाहीए कि वो आम आदमी तक इंसाफ़ की रसाई के मव्सअर इक़दामात करें ताकि अवाम में एतिमाद बहाल किया जा सकी।

पुलिस फ़लक नुमा ने मुक़द्दमा दर्ज करलिया है और मसरूफ़ तहक़ीक़ात है।

TOPPOPULARRECENT