पुराने शहर में मजलिस का मुतबादिल बनने कांग्रेस कोशां?

पुराने शहर में मजलिस का मुतबादिल बनने कांग्रेस कोशां?

क्या कांग्रेस पुराने शहर में मजलिस के मुतबादिल के तौर पर उभर रही है? पुराने शहर में कांग्रेस की सरगर्मीयों से अवाम में चिमीगोइयां शुरू हो गई हैं। आज गांधी भवन में एक प्रैस कान्फ़्रैंस से ख़िताब करते हुए सैक्रेट्री ए आई सी सी और रुक्न राज्य सभा मिस्टर वी हनुमंत राव ने मजलिस पर आर एस एस और बी जे पी से खु़फ़ीया साज़बाज़ कर लेने का इल्ज़ाम आइद करते हुए दारुस्सलाम मेडिकल और इंजीनीयरिंग कॉलेजेस में क़ियाम से अब तक कितने ग़रीब मुस्लिम तलबा को मुफ़्त दाख़िला दिया गया इस पर वाईट पेपर जारी करने का मुतालिबा किया।

इस मौक़ा पर सदर तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस अक़लीयत डिपार्टमेंट मिस्टर मुहम्मद ख़्वाजा फ़ख़्रउद्दीन भी मौजूद थे। मिस्टर हनुमंत राव ने कहा कि मजलिस और उस के क़ाइदीन ने सिवाए जज़बाती तक़ारीर करने के पुराने शहर की तरक़्क़ी के लिए कोई भी इक़दामात नहीं किए हैं। पुराने शहर की जो भी तरक़्क़ी हुई है वो कांग्रेस की मर्हूने मिन्नत है।

मजलिस इक़्तेदार की पुजारी है। मनीकोंडा की 3 एकड़ वक़्फ़ जायदाद जिसका सुप्रीमकोर्ट में मुआमला ज़ेरे दौरान है, ये जायदाद गुरुद्वारा के हवाले करने की सख़्त मुज़म्मत करते हुए उस की वज़ाहत करने का डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर मिस्टर मुहम्मद महमूद अली से मुतालिबा किया।

Top Stories