पुलवामा आतंकी हमला- प्रियंका गांधी बोलीं-दुख की इस घड़ी में मैं शहीदों के परिवारों के साथ

पुलवामा आतंकी हमला- प्रियंका गांधी बोलीं-दुख की इस घड़ी में मैं शहीदों के परिवारों के साथ

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पुलवामा में गुरुवार को हुए आतंकवादी हमले के मद्देनजर अपनी बहुप्रतीक्षित प्रेस कान्फ्रेंस में कोई राजनीतिक चर्चा नहीं की और शहीदों को श्रद्धांजलि देकर चली गईं। उन्होंने एक बयान जारी कर आतंकी हमले की निंदा करते हुए कहा कि इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए सरकार को कठोर कदम उठाने चाहिए।

प्रियंका गांधी प्रेस कांफ्रेंस में आईं तो जरूर लेकिन उन्होंने कहा कि पुलवामा में हुई घटना के कारण इस वक्त राजनीतिक चर्चा करना ठीक नहीं होगा। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी हमला हुआ है, जिसमें हमारे जवान शहीद हुए हैं। उसकी वजह से हम यह अनुचित समझते हैं कि अभी कोई राजनीतिक चर्चा करें।’    प्रियंका ने कहा कि मैं इस आतंकवादी हमले में शहीद हुए जवानों के परिवारों से कहना चाहती हूं कि इस दुख की घड़ी में एक-एक देशवासी आपके साथ खड़ा है। हमें बहुत दुख हुआ है। आप हौसला बनाये रखें।

 

हम आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं।   इसके बाद प्रियंका गांधी, पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया, प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर, पी.एल. पुनिया, प्रमोद तिवारी समेत मौजूद सभी लोगों ने मौन धारण कर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी।
वहीं प्रियंका ने अपने बयान में कहा है कि जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों के हाथों अब तक शहीद हुए दर्जनों जवानों के प्रति संवेदना व्यक्त करती हूं, दुख प्रकट करती हूं। उनके परिवारों की वेदना मैं अच्छी तरह समझती हूं। मैं जानती हूं इस शोक की घड़ी में सांत्वना के शब्द पर्याप्त नहीं होते, फिर भी शहीद परिवार के पीछे न केवल कांग्रेस बल्कि पूरा देश खड़ा है। उन्होंने कहा है कि जम्मू कश्मीर में आए दिन हमारे जवान शहीद हो रहे हैं, जो गहरी चिंता का विषय है। मैं सरकार से मांग करती हूं कि इन घटनाओं को रोकने के लिए कठोर कदम उठाए जाएं।

Top Stories