पुलवामा में CRPF पर हमला: अमेरिका ने पाकिस्तान को चेतावनी दी!

पुलवामा में CRPF पर हमला: अमेरिका ने पाकिस्तान को चेतावनी दी!

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में CRPF के काफिले पर हुए हमले के बाद दुनिया के तमाम बड़े देश भारत के साथ खड़े नजर आ रहे हैं। इस बीच अमेरिका ने पाकिस्तान को नसीहत देते हुए कहा है कि वह अपने यहां आतंक के पनाहगाहों को तुरंत बंद करे।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, व्हाइट हाउस की प्रवक्ता सारा सैंडर्स ने पाकिस्तान से उसकी धरती से आतंकवादी गतिविधियां चलाने वाले आतंकी समूहों को समर्थन और ‘सुरक्षित पनाहगाह’ तुरंत बंद करने को कहा है। इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है।

इंडिया टीवी न्यूज़ डॉट कॉम के अनुसार व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने गुरुवार देर रात जारी एक बयान में कहा, ‘अमेरिका पाकिस्तान से अपील करता है कि वह अपनी जमीन से आतंकी गतिविधियां चलाने वाले ऐसे सभी आतंकवादी समूहों को समर्थन और सुरक्षित पनाह तुरंत बंद करे जिनका एकमात्र लक्ष्य क्षेत्र में अव्यवस्था, हिंसा और आतंक फैलाना है।

यह हमला आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अमेरिका और भारत के सहयोग और साझेदारी को और बढ़ाने के हमारे संकल्प को और मजबूत बनाता है।’

गुरुवार को हुए हमले में केंद्रीय आरक्षित पुलिस बल (CRPF) के कम से कम 37 जवान शहीद हो गए जबकि कई अन्य घायल हुए हैं। आपको बता दें कि जैश के एक आत्मघाती हमलावर ने पुलवामा जिले में CRPF की एक बस में विस्फोटक लदे वाहन से टक्कर मार दिया जिससे हुए विस्फोट में सैनिक शहीद हुए हैं।

हमले की निंदा करते हुए अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा कि वह किसी भी रूप में आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए भारत सरकार के साथ काम करने को प्रतिबद्ध है।

शहीद जवानों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए अमेरिकी विदेश मंत्रालय के उप प्रवक्ता रॉबर्ट पैलाडिनो ने कहा, ‘भारतीय राज्य जम्मू कश्मीर में CRPF के काफिले पर हुए आतंकवादी हमले की अमेरिका कड़े शब्दों में निंदा करता है।

संयुक्त राष्ट्र की ओर से आतंकवादी घोषित पाकिस्तान स्थित आतंकी समूह जैश-ए-मोहम्मद ने इस जघन्य कृत्य की जिम्मेदारी ली है। हम सभी देशों से आह्वान करते हैं कि वे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का पालन करें ताकि आतंकवादियों को सुरक्षित पनाहगाह और समर्थन देने से बचा जा सके।’

Top Stories