पुलवामा हमला- राज्यपाल ने माना लापरवाही हुई

पुलवामा हमला- राज्यपाल ने माना लापरवाही हुई

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने पुलवामा के लेथपोरा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए आतंकवादी हमले के मद्देनजर राज्य में सभी महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की चौकसी बढ़ाने तथा तत्काल सुरक्षा प्रबंधन किए जाने के कमांडरों को निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि इस तरह के हमलों से हमारे सुरक्षा बलों और लोगों का संकल्प कमजोर नहीं हो पाएगा। प्रवक्ता ने बताया कि राज्यपाल ने सभी सुरक्षा बलों के कमांडरों से हर मोर्चे पर निगरानी को बढ़ाए जाने को कहा है। साथ ही जिला एवं संभागीय नागरिक और पुलिस प्रशासन से सभी महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा स्थिति की तत्काल समीक्षा किए जाने के निर्देश दिए।

शहीद जवानों के परिजनों के प्रति सहानुभूति व्यक्त करने के साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की। इस तरह की कार्रवाई सुरक्षा बलों के संकल्प को डिगा नहीं पाएंगी। इन असामाजिक ताकतों को खत्म कर दिया जाएगा। दरअसल सुरक्षा बलों की कार्रवाई से उनमें बौखलाहट है। इस वजह से अपनी उपस्थिति दिखाने के लिए वे इस प्रकार के हमले कर रहे हैं।

हाईवे की सुरक्षा पर नए सिरे से विचार

पुलवामा जिले के लेथपोरा में सबसे बड़े आतंकी हमले के बाद हाईवे पर नए सिरे से सुरक्षा की रणनीति पर विचार किया जा रहा है। इसके तहत सुरक्षा बलों के काफिले की सुरक्षा के लिए सख्ती पर गौर किया जा रहा है।

सुरक्षा एजेंसी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि 1990 के आस-पास जिस ढंग से काफिले की सुरक्षा की जाती थी और किसी को भी काफिले के आस-पास फटकने नहीं दिया जाता था वैसे ही प्रबंध करने पर विचार किया जा रहा है।

उस दौरान सुरक्षा बलों के काफिले की कम ही घटनाएं सामने आई थीं। यह विचार किया जा रहा है कि अब किसी भी नागरिक वाहन को काफिले के आस-पास न आने दिया जाए।

Top Stories