पुलवामा हमले के लिए पूरी तरह मोदी सरकार जिम्मेदार: ममता बनर्जी

पुलवामा हमले के लिए पूरी तरह मोदी सरकार जिम्मेदार: ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को राजग सरकार को पुलवामा हमले के लिये जिम्मेदार ठहराते हुए दावा किया कि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार ने खुफिया इनपुट होने के बावजूद हमले को रोकने के लिये कुछ नहीं किया। यहां चौक बाजार इलाके में एक जनसभा को संबोधित करते हुए तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) प्रमुख ने यह दावा भी किया कि भाजपा के शासन में भारत की स्वतंत्रता और संविधान खतरे में हैं। उन्होंने कहा, “आपके (मोदी के) पास पुलवामा विस्फोट की सूचना थी। लेकिन आप (मोदी) हमले को रोकने में नाकाम रहे। आप (मोदी) इस पूरे प्रकरण के लिये जिम्मेदार हैं। भाजपा सरकार के पिछले पांच सालों के शासन के दौरान आतंकवाद में 260 फीसद इजाफा हुआ है।” उन्होंने कहा, “भारत की स्वतंत्रता और इसका संविधान खतरे में है। भाजपा शासन में लोग गांधीजी, नेताजी और विवेकानंद के सिद्धांतों को भूल गए हैं।” जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान मारे गए थे। बनर्जी ने कहा कि भगवा पार्टी “दार्जिलिंग में राजनीतिक उठापटक का फायदा उठाने” की कोशिश कर रही है। तृणमूल अध्यक्ष ने कहा, “उन्होंने (भाजपा ने) चुनावों के दौरान दार्जिलिंग में आग भड़काई। दिल्ली में बैठे लोग (भाजपा) यहां समस्याओं को बढ़ाते हैं, यहा जितनी समस्याएं होंगी, पार्टी के लिये स्थिति का फायदा उठाने के मौके उतने ही बेहतर होंगे। भाजपा दार्जिलिंग, कलिम्पोंग, कुर्सियोंग और मिरिक में कोई प्रगति नहीं चाहती।” तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ने भगवा पार्टी के मौजूदा सांसद एसएस अहलूवालिया पर क्षेत्र के विकास के लिये कोई काम नहीं करने का आरोप लगाया। उन्होंने दावा किया, “चुनाव जीतने के बाद अहलूवालिया ने कभी इलाके का दौरा नहीं किया। वह पहाड़ी क्षेत्र से भाग गए और इस बार बर्दवान से लड़ रहे हैं।” लोगों से तृणमूल कांग्रेस के लिये वोट करने की अपील करते हुए बनर्जी ने कहा कि उनकी पार्टी ने दार्जिलिंग के विधायक अमर सिंह राय को यहां से लोकसभा के लिये अपना उम्मीदवार बनाया क्योंकि वह चाहती थीं कि यहां के लोगों का प्रतिनिधित्व “धरती-पुत्र” करे। प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए बनर्जी ने कहा कि जब देश को सुरक्षा और विकास की जरूरत थी मोदी अपने प्रचार में व्यस्त हैं। बनर्जी ने कहा, “वह (मोदी) इतने बड़े हो गए हैं कि वह अपने जीवन पर फिल्म बना रहे हैं। नमो सूट बेचने के लिये उन्होंने नमो दुकानें खोली हैं…चुनावों के बाद ये दुकानें नमो की चप्पलें भी बेचेंगी। उन्होंने सब कुछ अपना प्रचार करने के लिये ही किया है।” उन्होंने कहा कि मोदी ने 2014 के चुनावों में किये गए अपने वादे भी पूरे नहीं किये।

Top Stories