Wednesday , May 23 2018

पुलिस की करतूत: …… से बचा कर नाबालिग से 3 माह तक करते रहे रेप

ठाणे: एक ताजा मामला मुबंई के ठाणे का है। पुलिसवालों ने जिस्मफरोशी रैकेट चलाने वालों के चंगुल में फंसी एक 16 साल की लडकी को बचा तो लिया। लेकिन, पुलिस की करतूत ने खाकी वर्दी को तब शर्मसार कर दिया। जब पुलिसवाले ही नाबालिग से तीन महीने तक

ठाणे: एक ताजा मामला मुबंई के ठाणे का है। पुलिसवालों ने जिस्मफरोशी रैकेट चलाने वालों के चंगुल में फंसी एक 16 साल की लडकी को बचा तो लिया। लेकिन, पुलिस की करतूत ने खाकी वर्दी को तब शर्मसार कर दिया। जब पुलिसवाले ही नाबालिग से तीन महीने तक रेप करते रहे। वहीं, थाने में मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने दो कॉन्स्टेबल्स को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस के मुताबिक मुतास्सिरा को एक कपल ने जनवरी महीने में जिस्मफरोशी के धंधे में ढकेल दिया था। मुल्ज़िम कपल एक कैटरिंग सर्विस चलाते हैं। ये दोनों मुतास्सिरा की मां के पास पहुंचे और उसे लालच दिया कि अगर वह अपनी बेटी को उनकी कंपनी में काम करने के लिए भेजेगी तो उसे काफी आमदनी होगी।

इसके बाद, कपल ने लडकी को लाकर इस्मत फरोशी (वेश्यावृत्ति) में ढकेल दिया। कुछ हफ्ते बाद ही पुलिस ने इस कपल की तरफ से चलाए जा रहे रैकेट का भंडाफोड किया।

कोई केस दर्ज नहीं किया गया और मुल्ज़िम को जाने दिया गया। इल्ज़ाम है कि इसके बाद, रेड डालने वाली पुलिस टीम के दो कॉन्स्टेबल्स ने नाबालिग का रेप करना शुरू कर दिया। इसके अलावा, उसे इस्मतफरोशी के धंधे में बने रहने के लिए मजबूर किया गया।

31 मार्च को एक एनजीओ ने मुल्ज़िम कपल की तरफ से चलाए जाने वाले रैकेट की इत्तेला पुलिस को दी, लेकिन इस बार भी मामला दर्ज नहीं किया गया। एनजीओ के लोग ज्वाइंट कमिश्नर के पास पहुंचे, जिसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज किया। इस बार पुलिस ने एक नाबालिग को जिस्मफरोशी के धंधे से छुडाने का मामूली सा केस दर्ज किया।

इसके बाद, लडकी को वसई वाके Care homes भेज दिया गया। यहां मुतास्सिर ने काउंसिलिंग के दौरान बताया कि दो कॉन्स्टेबल्स ने तीन महीने तक उसके साथ रेप किया। यह धमकी भी दी कि अगर उन्होंने इस मामले में केस दर्ज किया तो मुतास्सिरा को कई साल जेल में गुजारने होंगे।

अदालत में मुतास्सिरा के बयान दर्ज होने के बाद दो पुलिसवालों को गिरफ्तार कर लिया गया। फिलहाल, पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

TOPPOPULARRECENT