Saturday , September 22 2018

पुलिस की चेतावनी के बाद भी शंभूलाल रेगर की पत्नी को आर्थिक मदद मिलने का सिलसिला जारी

जयपुर : पुलिस की चेतावनी के बाद भी राजस्थान के राजसमंद जिले में लव जिहाद के नाम पर एक शख्स की हत्या करने के आरोपी शंभूलाल रेगर की पत्नी को आर्थिक मदद मिलने का सिलसिला लगातार जारी है1 516 लोगों ने 2.5 लाख से ज्यादा रुपये उसके बैंक अकाउंट में जमा कर दिए, लेकिन जब पुलिस ने बैंक अकाउंट फ्रीज कर दिया, तो उसके घर पहुंचने लगे.

हिंदू एकता के नाम पर शंभूलाल रेगर के घर जा रहे लोगों में से करीब 40 ने दो लाख से रुपये दिए हैं. पुलिस का कहना है कि आरोपी को आर्थिक मदद देने वाले लोगों की सूची बनाई जा रही है. इस तरह के घिनौने काम करने वाले शंभूलाल रैगर को आर्थिक मदद देने वालों को उसके अपराध के साथ में संलिप्तता में उनको भी दोषी माना जाएगा.

बताते चलें कि लव जिहाद के नाम पर अफराजुल नामक शख्स की बर्बर हत्या के बाद जिंदा जलाने के आरोपी शंभूलाल रेगर के समर्थन में कई लोग सोशल मीडिय पर मुहिम चला रहे हैं. कई लोग शंभूलाल के पक्ष में वीडियो डाल रहे थे. संतोष नामक एक व्यक्ति ने तो शंभू की पत्नी का बैंक डिटेल सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया था.

इसके साथ ही लोगों से शंभू की पत्नी की मदद की अपील की गई. इसको देखकर कई लोगों ने शंभू की पत्नी के अकाउंट में पैसे भेजने शुरू कर दिए. इसके बाद हरकत में आई पुलिस ने उस बैंक अकाउंट को फ्रिज करवा दिया. पुलिस ने ऐलान किया है कि आरोपी के समर्थन में मुहिम चलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

पुलिस ने इस मामले में अब तक 6 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है. आईटी एक्ट की धारा 84 के तहत वैष्णव चिराग कुमावत, आशीष पालीवाल पुणे, राकेश लड्ढा नवीन के साथ-साथ संतोष कुमार, पिंटू जोशी और कैलाश डांगी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. इनमें से 3 लोगों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है.

TOPPOPULARRECENT