Monday , January 22 2018

पुलिस लेगी इंटरपोल की मदद

रांची: अमेरिका के डॉक्टर मनोज खटोर के रांची वाक़ेय आइसीआइसीआइ बैंक के अकाउंट से गायब हुए 1.53 करोड़ रुपये के मामले की तहकीकात अब इंटरपोल करेगी। यह फैसला पुलिस हेड क्वार्टर वाक़ेय साइबर डिफेंस रिसर्च सेंटर (सीडीआरसी) के अफसरों ने लि

रांची: अमेरिका के डॉक्टर मनोज खटोर के रांची वाक़ेय आइसीआइसीआइ बैंक के अकाउंट से गायब हुए 1.53 करोड़ रुपये के मामले की तहकीकात अब इंटरपोल करेगी। यह फैसला पुलिस हेड क्वार्टर वाक़ेय साइबर डिफेंस रिसर्च सेंटर (सीडीआरसी) के अफसरों ने लिया है।

सीडीआरसी के अफसरों के मुताबिक हैकिंग करनेवाले साइबर मुजरिम हांगकांग और मलेशिया से जुड़े हैं, ऐसी सूरत में मामले की तह्क़िआत करना अकेले पुलिस के लिए मुमकिन नहीं है। सिटी डीएसपी पीएन सिंह के मुताबिक इस मामले में बैंक अफसरों की किरदार की भी तहकीकात की जायेगी।

यह भी मालूमात ली जायेगी कि किस बुनियाद पर बैंक के अफसरों ने सिर्फ ई-मेल के जरिये ही रुपये दूसरे अकाउंट में ट्रांसफर कर दिया। रुपये ट्रांसफर करने से पहले बैंक अफसरों ने क्या अमल अपनायी।

काबिले ज़िक्र है कि डॉ मनोज खटोर रांची वाक़ेय हिनू के रहनेवाले हैं, लेकिन मौजूदा में वह अमेरिका में रहते हैं। उन्होंने सुजाता चौक के नजदीक वाक़ेय आइसीआइसीआइ बैंक के अकाउंट में 1.50 करोड़ रुपये का एफडी कराया था। कुछ दिन बाद जब मनोज खटोर ने अपना अकाउंट चेक किया, तो उसमें बैलेंस जीरो था। इस मामले में लोअर बाजार थाने में सनाह दर्ज करायी गयी है।

TOPPOPULARRECENT