Saturday , July 21 2018

पेरिस हमले के बाद दहशतगर्द के खिलाफ मदरसों के बच्चों ने बुलंद की आवाज

रांची : दहशतगर्दी मुर्दाबाद, आईएसआईएस मुर्दाबाद जैसे नारे लगाते हुए कडरू वाकेय मदरसा हुसैनिया के तालिबे इल्म ने बुध को जुलूस निकाला। जमिअत-उल-उलमा-ए-हिंद की मुक़ामी यूनीट के बैनर तले निकले ये तालिबे इल्म हज हाउस के पास पहुंचे। यहां हुई इजलास में जमिअत के रियासती सदर मौलाना अजहर ने कहा कि इस्लाम हर तरह की दहशतगर्दी के खिलाफ है।
उन्होंने कहा कि मजहब के नाम पर जो भी लोग दहशतगर्द वारदात कर रहे हैं, वे समूची इंसानियत के कातिल हैं। उन्होंने पेरिस पर हुए दहशतगर्द हमले की मज़मत की। मदरसा के मौलाना अबुबक्र ने कहा कि दहशतगर्द के लिए इस्लाम में कोई जगह नहीं है। इस्लाम अमन की तालीम देता है। इंटेरनेशनल साजिश के तहत इस्लाम को दहशतगर्द से जोड़ने वाली ज़ेहनीयत का मुखालिफत किया जाना चाहिए।

जमिअत के नायब सदर मौलाना इमादउद्दीन ने कहा कि जमिअत ने रांची समेत मुल्क के सौ शहरों में दहशतगर्द के मुखालिफत मुजाहिरा किया है। मुजाहिरा को मौलाना अब्दुल खालिक, कारी एहसान, कारी अख्लाक और मुफ्ती कमर आलम ने भी खिताब किया। मौके पर मुफ्ती जियाउल हक, कारी अब्दुल मजीद, कारी माजिद, मौलाना सलमान, कारी रिजवान, कारी अब्दुल कुद्दूस, मौलाना रफीक, मौलाना जाकिर, मौलाना अतहर, मौलाना इदरीस, कारी शमीम, कारी सादिक, कारी इलियास और कारी अख्तर वगैरह मौजूद थे।

 

TOPPOPULARRECENT