Saturday , December 16 2017

पैक्स इंतिखाबात में पहली बार ख़वातीन को 50 फीसद रिज़र्वेशन

इस बार पैक्सों के इंतिख़ाब में ख़वातीन को 50 फीसद रिज़र्वेशन का फाइदा मिलेगा। हर पैक्स की इंतेजामिया कमेटी में आधे ओहदे उनके लिए रिजेर्व रहेंगे। सूबे में यह पहली बार हो रहा है। कुल 8463 पैक्सों में 8,180 का इंतिख़ाब सितंबर में होना है। इन पै

इस बार पैक्सों के इंतिख़ाब में ख़वातीन को 50 फीसद रिज़र्वेशन का फाइदा मिलेगा। हर पैक्स की इंतेजामिया कमेटी में आधे ओहदे उनके लिए रिजेर्व रहेंगे। सूबे में यह पहली बार हो रहा है। कुल 8463 पैक्सों में 8,180 का इंतिख़ाब सितंबर में होना है। इन पैक्सों के लिए तकरीबन 99 हजार मेम्बर चुने जाएंगे। इनमें आधी ख़वातीन होंगी। उनके लिए नॉमिनेशन फीश भी आधा होगा। जेनरल वालों को नॉमिनेशन फीश एक हजार देना होगा।

हर बुनियादी जीराअत साख कमेटी (पैक्स) में सदर का ओहदा रिज़र्वेशन नहीं रहेगा। हर एक पैक्स में जेनरल जमरे की पांच सीटों में उसी तबके की ख़वातीन को दो सीट और एससी, एसटी, पसमानदा इंतेहाई पसमानदा तबके की रिज़र्वेशन की दो-दो सीटों में एक-एक ख़वातीन के लिए रिजर्व होंगी। हर पैक्स में सदर के इलावा 11 मेम्बर होंगे। डिफाल्टर और सजायाफ्ता इंतिख़ाब नहीं लड़ सकते।

दूसरी तरफ पैक्स इंतिख़ाब में वोटर बनने के लिए बिहार रियासत इंतिखाबात एख्तियार की तरफ से ‘ऐलान कट ऑफ डेट’ का मुखालिफत भी शुरू हो गया है। एलेक्शन एख्तियार ने वॉटर लिस्ट के लिए 31 मई 2014 तक को ही बुनियाद माना है। यानी 31 मई तक पैक्स के मेम्बर बन चुके लोगों को ही वोटर लिस्ट में जगह मिल पाएगी। साथ ही वे किसी ओहदे के लिए इंतिख़ाब लड़ सकेंगे। वोटर बनने के लिए कम वक़्त देने का मुखालिफत कई जिलों में शुरू हो गया है। साथ ही आखरी वोटर लिस्ट में नाम शामिल कराने और कट ऑफडेट बढ़ाने की मांग तेज हो गई है। लेकिन एख्तियार इसके हक़ में नहीं दिख रहा।

TOPPOPULARRECENT