Thursday , December 14 2017

पैट्रोल की कीमत में इज़ाफ़ा का अंदेशा

आइन्दा चंद दिनों में जबकि उत्तरप्रदेश समेत मुल़्क की पाँच रियासतों में इंतेख़ाबात का अमल पूरा होजाएगा पैट्रोल और डीज़ल की कीमतों में इज़ाफ़ा का अंदेशा पैदा होगया है । सरकारी हलक़ों में कयास किया जा रहा है कि हुकूमत इंतिख़ाबी अ

आइन्दा चंद दिनों में जबकि उत्तरप्रदेश समेत मुल़्क की पाँच रियासतों में इंतेख़ाबात का अमल पूरा होजाएगा पैट्रोल और डीज़ल की कीमतों में इज़ाफ़ा का अंदेशा पैदा होगया है । सरकारी हलक़ों में कयास किया जा रहा है कि हुकूमत इंतिख़ाबी अमल की तकमील के साथ ही पैट्रोल की कीमत में फ़ी लीटर चार रुपये और डीज़ल की कीमत में फ़ी लीटर दो रुपये का इज़ाफ़ा करेगा ।

हालाँकि पैट्रोल की कीमतें हुकूमत के कंट्रोल से बाहर हैं लेकिन उत्तरप्रदेश जैसी अहम रियासत समेत पाँच रियासतों में इंतेख़ाबात को देखते हुए जारीया साल अभी तक इन कीमतों में कोई इज़ाफ़ा नहीं किया गया कियुं के हुकूमत को अंदेशा था कि इस से हुकूमत के इंतिख़ाबी इमकानात मुतास्सिर होंगे । गुज़शता साल भी मर्कज़ी हुकूमत ने मग़रिबी बंगाल में इंतेख़ाबात के दौरान तेल कंपनियों को पैट्रोल की कीमतों में इज़ाफ़ा की इजाज़त नहीं दी थी ।

इंतिख़ाबी अमल के फ़ौरी बाद कीमतों में इज़ाफ़ा कर दिया गया था । कहा गया है कि अमरीका और इरान के माबेन कशीदगी की वजह से तेल की कीमतें बढ़ी हैं । हिंदूस्तान को ख़ाम तेल 123 डालर फ़ी बे एरियल हासिल हो रहा है । गुज़शता दिनों मर्कज़ी वज़ीर पैट्रोलीयम मिस्टर जएपाल रेड्डी ने कहा था कि आलमी सयासी मंज़र में तब्दीलियों के नतीजा में तवानाई के शोबा में मईशत मुतास्सिर हुए बगैर नहीं रही है । मआशी तहदिदात से स्पलाई और तलब में फ़र्क़ होगया है ।

तेल कंपनियों की जानिब से हुकूमत पर मुसलसल दबाव था कि उन्हें पैट्रोल की कीमत में इज़ाफ़ा की इजाज़त दी जाय । ये तेल कंपनियां डीज़ल की कीमत में भी इज़ाफ़ा का मंसूबा रखती हैं। अब जबकि इन तमाम रियासतों में इंतिख़ाबी अमल तकमील के मराहिल में है उसे में तेल कंपनियों ने पैट्रोल-ओ-डीज़ल कीमत में इज़ाफ़ा की कोशिशें शुरू करदी हैं ।

TOPPOPULARRECENT